अफ़्रीका में कोरोना के मामलों में 43 फीसद इजाफ़ा

अफ़्रीका में जिस तरह के हालात हैं यह कोरोना का अगला ऐपीसेंटर बन सकता है. यहां कारोना संक्रमण के चलते तीस लाख लोगों के मरने और तकरीबन तीन करोड़ लोगों के भयानक ग़रीबी से घिर जाने की आशंका है।

-WHO रिपोर्ट


अफ़्रीका में कोरोनावायरस के मामलों में पिछले एक हफ़्ते में 43 प्रतिशत की वृद्धि हुई है. और चिंता की बात यह है कि अफ़्रीकी देश चिकित्सकीय उपकरणों के लिहाज़ से दुनिया के दूसरे देशों के मुक़ाबल काफ़ी पीछे हैं। हालत यह है कि दस अफ़्रीकी देशों में एक भी वेंटिलेटर नहीं है।


अफ़्रीका के रोग नियंत्रण और रोकथाम केंद्र के निदेशक जॉन नेकेंगसॉन्ग ने कहा कि अफ़्रीका के पास अब भी बेहद कम जांच की क्षमता है. ऐसे में संक्रमण का प्रकोप अप्रत्याशित रूप से बढ़ सकता है. उन्होंने कहा कि अफ़्रीकी महाद्वीप का भविष्य पूरी तरह इस बात पर निर्भर करेगा कि यहाँ कोरोना के संकट को कैसे संभाला जाता है. WHO की हालिया रिपोर्ट ने भी अफ़्रीका को लेकर इसी तरह की चिंता जताई थी. इस रिपोर्ट में कहा गया है कि अफ़्रीका में जिस तरह के हालात हैं यह कोरोना का अगला ऐपीसेंटर बन सकता है. यहां कारोना संक्रमण के चलते तीस लाख लोगों के मरने और तकरीबन तीन करोड़ लोगों के भयानक ग़रीबी से घिर जाने की आशंका है। नेकेंगसॉन्ग ने कहा है कि अफ़्रीकी देशों के पास अब भी समय है कि वह इस तबाही के प्रति सचेत हो सकते हैं लेकिन कोरोना की जांच और उसकी ट्रेसिंग करना बेहद चुनौती पूर्ण है. इसके लिए विश्व संगठनों को उसकी मदद करनी होगी.

Subscribe to Our Newsletter

  • White Facebook Icon

©