दाग़िस्तान में 40 डॉक्टर्स समेत 700 लोगों की मौत

दाग़िस्तान की सरकार पर आंकड़ों को छिपाने के भी आरोप लग रहे हैं और कहा जा रहा है कि जिन लोगों को निमोनिया का शिकार बताया जा रहा है ​वे कोविड-19 से ही ​ग्रस्त हैं. आरोप यह भी हैं कि इन आंकड़ों को कम करके दिखाया गया है, और हालात असल में और भी ख़राब है.

- Khidki Desk



दाग़िस्तान से ख़बर है कि वहां 700 से अधिक लोग निमोनिया से मारे गए हैं जिनमें 40 डॉक्टर्स थे. जबकि अब तक देश में कारोनावायरस से केवल 27 मौतें दर्ज की गई हैं.


दाग़िस्तान की सरकार पर आंकड़ों को छिपाने के भी आरोप लग रहे हैं और कहा जा रहा है कि जिन लोगों को निमोनिया का शिकार बताया जा रहा है ​वे कोविड-19 से ही ​ग्रस्त हैं. आरोप यह भी हैं कि इन आंकड़ों को कम करके दिखाया गया है, और हालात असल में और भी ख़राब है. हालांकि आधिकारिक जानकारी के अनुसार, दाग़िस्तान में कोरोनोवायरस संक्रमण के 3,280 मामले दर्ज किए गए. लेकिन स्वास्थ मंत्री ने कहा कि दागिस्तान के अस्पतालों में 13 हज़ार से अधिक ऐसे लोग भर्ती हैं जो कि निमोनिया से पीड़ित हैं. इधर बीबीसी वर्ल्ड सविर्स रेडियो में प्रसारित एक रिपोर्ट के मुताबिक स्थानीय लोगों में भी सरकार के ख़िलाफ़ आक्रोश उभरता दिखाई दे रहा है और वह आरोप लगा रहे हैं कि सरकार कोरोना संक्रमण के आंकड़ों को छिपा कर लोगों को ख़तरे में डाल रही है.

Subscribe to Our Newsletter

  • White Facebook Icon

©