• Krishan Joshi

मंगल की ओर UAE की उड़ान

अगर UAE द्वारा भेजा जाने वाला यह प्रोब मंगल ग्रह की जलवायु और वतावरण के नवीनतम डाटा भेजने में सफल हो जाता है तो यह एक बड़ी क़ामयाबी होगी.

- Khidki Desk



संयुक्त अरब अमीरात मंगल ग्रह पर अपना पहला अन्तरिक्ष मिशन कुछ हफ़्तों के भीतर भेजने की तैयारी कर रहा है. मंगल ग्रह को भेजे जाने वाले प्रोब में अगले हफ्ते से फ्यूलिंग की प्रक्रिया शुरू होगी.


पृथ्वी से मंगल ग्रह तक पहुँचने के लिए 493 मिलियन किमी की यात्रा तय करनी होती है, और मंगल की कक्षा तक पहुचने में कम से कम 7 महीने का समय लगेगा. सफलतापूर्वक मंगल की कक्षा में पहुंच जाने के बाद यह यान मंगल ग्रह के जलवायु और वातावरण के डाटा को पृथ्वी को भेजेगा. आसार ये लगाये जा रहे रहें कि मगल ग्रह में जीवन की संभावनाओं की जाँच के लिए, और पर्याप्त डेटा एकत्र करने के लिए, यह यान 687 दिनों तक मंगल की परिक्रमा करेगा.


सोमवार को एक ब्रीफिंग में, कार्यक्रम के निदेशक सारा अल-अमीरी ने कहा कि

"हमारी यह परियोजना अंतरिक्ष इंजीनियरिंग में कैरियर बनाने वाले युवा अरब वैज्ञानिकों के लिए एक प्रोत्साहन का काम करेगी.”

अगर UAE द्वारा भेजा जाने वाला यह प्रोब मंगल ग्रह की जलवायु और वतावरण के नवीनतम डाटा भेजने में सफल हो जाता है तो यह अन्तरिक्ष विज्ञान के क्षेत्र में निश्चित रूप से सफ़लता होगी और मंगल ग्रह में जीवन की संभावनाओं के अध्ययन में भी सहायक सिद्ध होगी.