अल-सीसी का बयान युद्ध की घोषणा की तरह: जीएनए

अल-सीसी ने जीएनए का साथ दे रही सैन्य ताकतों को चेतावनी देते हुए कहा था कि वे त्रिपोली में अपने और कमांडर ख़लीफ़ा हफ़्तार का साथ दे रही ताकतों के बीच कायम मौजूदा फ्रंट लाइन को पार ना करें.

-Khidki Desk

Representative Image

लीबिया की अंतरराष्ट्रीय मान्यता प्राप्त सरकार यानि जीएनए ने मिस्र के राष्ट्रपति अब्देल फतेह अल-सीसी के उस बयान को युद्ध की घोषणा करने जैसा बताया है जिसमें अल-सीसी ने जीएनए के ख़िलाफ़ अपने देश की सैन्य टुकड़ियों से 'तैयार' रहने की बात कही थी.


अल-सीसी ने जीएनए का साथ दे रही सैन्य ताकतों को चेतावनी देते हुए कहा था कि वे त्रिपोली में अपने और कमांडर ख़लीफ़ा हफ़्तार का साथ दे रही ताकतों के बीच कायम मौजूदा फ्रंट लाइन को पार ना करें.


जीएनए के सहयोगी लीबियन हाई काउंसिल ऑफ़ स्टेट के सदस्य अब्दुर्रहमान शतेर ने कहा कि मिस्र और अल-सीसी के ऐसे बयानों के चलते ही लीबिया में लोकतंत्र ख़तरे में पड़ता रहा है. उन्होंने जोड़ा कि अल-सीसी का यह बयान सीधे तौर पर युद्ध की घोषणा और लीबिया के अंदरूनी मामलों में दख़ल है.


बता दें कि युद्धग्रस्त लीबिया में बीते दिनों विद्रोही ख़लीफ़ा हफ़्तार के नेतृत्व वाली ताकतों की स्थिति बेहद कमज़ोर हुई है.

Subscribe to Our Newsletter

  • White Facebook Icon

©