एक ग़ज़ब का एस्ट्रोनॉट जिसने 'चांद' के गड्ढे भरवा दिए

पहले-पहल इस वीडियो को आप देखेंगे तो दिमाग में मिशन चंद्रयान 2 कौंधेगा. फिर आपको याद आएगा नहीं.. उसमें तो कोई एस्ट्रोनॉट नहीं गया था फिर ये चांद पर कौन टहल रहा है? बर्डस् आई व्यू में कैमरा एक एस्ट्रॉनॉट पर है. नीचे चांद की ज़मीन महसूस होती है, जिस पर एस्ट्रॉनॉट धीमे धीमे क़दम बढ़ा रहा है.

लेकिन ज्यूं-ज्यूं कैमरे का एंगल बदलता है आपको एक नया नज़ारा नज़र आता है. अरे ये क्या इसमें तो एक ऑटो-रिक्शा भी दिखाई देने लगा और यह तो चांद की ज़मीन नहीं है. असल में यह बैंग्लौर की एक सड़क है, गड्ढों से भरी. और यह विडियो एक व्यंग्य है स्थानीय प्रशासन पर.



यह विडियो तैयार किया है बैंग्लौर के आर्टिस्ट बादल नंजुन्दास्वामी ने. बादल, शहर भर की अलग अलग दुश्वारियों पर अब तक कई ऐसी कलाकृतियां बना चुके हैं जो कि सामाजिक मुद्दों को उठाती हैं. अब तक उन्होंने सड़क के गड्ढों पर तकरीबन 50 कलाकृतियां बनाई हैं. बीबीसी से बात करते हुए बादल कहते हैं कि उनकी इन कलाकृतियों को लेकर कभी किन्हीं अथोरिटीज़ ने उनसे संपर्क नहीं किया और ना ही कभी उन्होंने ऐसा किया. लेकिन संबंधित अधिकारी यह ज़रूर करते हैं कि उन गड्ढों को ढक दिया जाता है.



यहां देखें बादल नंजुन्दास्वामी की कुछ और कलाकृतियां. सभी तस्वीरें उनके ट्वीटर हैंडल से साभार.