UAE-Israel समझौते की निंदा नहीं करेंगे अरब देश

फ़लस्तीन ने इसके लिए ज़ोर लगाया था और इस सिलसिले में एक ड्राफ़्ट रिजॉल्युशन भी पेश किया था लेकिन तीन घंटों तक चली चर्चा के बाद फ़लस्तीन और अरब देशों में यह सहमति बनी कि इस डील की साफ़ तौर पर निंदा ना की जाए.

- Khidki Desk


अरब लीग की एक महत्वपूर्ण बैठक में जहां एक ओर फ़लस्तीनी नेता फ़लस्तीनी राज्य के लिए फिर से सउदी का समर्थन पाने में क़ामयाब हुए हैं, वहीं दूसरी ओर वे अरब लीग को, इसराएल और संयुक्त अरब अमीरात के बीच हुई normalisation deal की निंदा करने के लिए राज़ी करने में क़ामयाब नहीं हुए.


फ़लस्तीन पर इसराएली क़ब्ज़े के ख़िलाफ़ अरब देश अब तक एक साझी समझ रखते आए हैं. लेकिन अमेरिकी मध्यस्थता में इसराएल और यूएई की इस normalisation deal के बाद यह पहली बार है कि किसी अरब देश के साथ इसराएल के रिश्ते सामान्य होंगे.


अमेरिकी मध्यस्थता में हुई इस normalisation deal के बाद बुधवार को विडियो कॉंफ्रेंस के ​ज़रिए हुई अरब लीग के देशों के विदेश मंत्रियों की एक महत्वपूर्ण बैठक में माना जा रहा था कि अरब देश, इसराएल के साथ normalisation deal के लिए संयुक्त अरब अमीरात की निंदा करेंगे.


फ़लस्तीन ने इसके लिए ज़ोर लगाया था और इस सिलसिले में एक ड्राफ़्ट रिजॉल्युशन भी पेश किया था लेकिन तीन घंटों तक चली चर्चा के बाद फ़लस्तीन और अरब देशों में यह सहमति बनी कि इस डील की साफ़ तौर पर निंदा ना की जाए.


अरब लीग के Assistant Secretary-General होसाम ज़ाक़ी ने पत्रकारों से बात करते हुए कहा, ''इस मुद्दे पर चर्चा बेहद गंभीर थी. यह समग्रता में थी और कुछ समय लगा. लेकिन फ़लस्तीनी पक्ष की ओर से प्रस्तावित किए गए ड्राफ़्ट रिजॉल्युशन को लेकर यह किसी समझोते में ख़त्म नहीं हुई.''


फ़लस्तीन के एक डिप्लोमेटिक सोर्स के हवाले से समाचार वेबसाइट अल्जज़ीरा ने लिखा है कि Arab League ने इसराएल यूएई समझौते की निंदा करने वाले फ़लस्तीन के ड्राफ़्ट रिजॉल्युशन को ​ख़ारिज़ कर दिया है.


हालांकि फ़लस्तीनी राजदूत मुहन्नद अक्लौक ने स्थानीय समाचार एजेंसी मान को बताया कि इस बैठक में फ़लस्तीन और अरब देश, 2002 Arab Peace Initiative, की शपथ के आख़िरी परिपत्र में टू स्टेट सॉल्युशन, और land-for-peace principle पर ज़ोर डालने के लिए सहमत हुए हैं.


अक्लौक ने बताया कि इसी आधार पर तीन घंटों तक चली चर्चा के बाद फ़लस्तीन और अरब देश UAE-Israel deal की साफ़ तौर पर निंदा ना करने को लेकर सहमत हुए.


अक्लौक ने बिना नाम लिए कहा कि कुछ अरब देशों ने हालॉंकि कोशिश की कि normalisation agreement को वैधता का आकार दिया जाए. ''इसके जवाब में फ़लस्तीन ने UAE-Israel normalisation deal की निंदा करने वाला एक ड्राफ़्ट रिजॉल्युशन पे​श किया. हालांकि अरब देशों ने इस ड्राफ्ट को ख़ारिज़ कर दिया.


इससे पहले बुधवार को फ़लस्तीनी विदेश मंत्री रियाद अल म​लिकी ने अरब देशों से आह्वान किया था कि वे UAE-Israel normalisation deal को पुरज़ोर तरीक़े से ख़ारिज़ करें.


Subscribe to Our Newsletter

  • White Facebook Icon

©