ब्राज़ील में कोरोना का उफ़ान

राष्ट्रपति बोलसोनारो की लापरवाही ब्राज़ील के लिए भारी पड़ती दिखाई दे रही है हर रोज़ मरने वालों का आंकड़ा पिछले दिन से ज़्यादा होता जा रहा है. अब एक दिन में एक हज़ार से ज़्यादा मौतें दर्ज की गई हैं.

- Khidki Desk


कोरोनावायरस से ब्राज़ील में हर रोज़ होने वाली मौतों के आंकड़े में मंगलवार को रेकॉर्ड तोड़ इज़ाफ़ा हुआ है और पहली बार ऐसा हुआ है कि एक दिन में मरने वालों की संख्या हज़ार से पार चली गई. मंगलवार को यह संख्या 1,179 दर्ज की गई है. इससे पहले हर रोज़ हो रही मौतों का सबसे बड़ा आंकड़ा 12 मई को दर्ज किया गया था, जिसमे 881 लोगों की मौत हुई थी.


ब्राज़ील के स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक़, महामारी ने देश में कम से कम 17,971 लोगों की जान ले ली है और अब ब्राज़ील में अमेरिका और रूस के बाद, तीसरे नंबर पर सबसे ज्यादा संक्रमण के मामले दर्ज हैं.


आपको बता दें कि दक्षिणपंथी रुझान वाले राष्ट्रपति जायर बोलसोनारो की करोना वायरस प्रकोप से निपटने के लिए व्यापक रूप से आलोचना की गई है. बोलसोनारो दैहिक दूरी बनाये रखेने के लिए लागू किये गए लॉकडाउन का विरोध करते आयें हैं. उन्होंने कोरोनावायरस को मामूली फ्लू भी कहा था. ब्राज़ील के राज्यों के गवर्नरों ने जब राष्ट्रपति के ख़िलाफ़ जाकर अपने राज्यों में लॉकडाउन किया तो देश के अलग अलग शहरों में बोलसोनारो के समर्थक सड़कों में उतर कर विरोध प्रदर्शन करने लगे. इनमें से कई प्रदर्शनों में ख़ुद बोलसोनारो ने भी हिस्सा लिया जहां वे ख़ुद मास्क पहने बग़ैर लोगों को लॉकडाउन तोड़ने के लिए प्रेरित करते दिखाई दिए.


इस बीच बोलसोनारो, ब्राज़ील के स्वास्थ मंत्री को बेदख़ल कर चुके हैं. उसके बाद बोलसोनारो ने नेल्सन टीश को स्वास्थ मंत्री बनाया था लेकिन टीश ने भी बोलसोनारो के रवैये से परेशान हो कर इस पद से इस्तीफ़ा दे दिया था.


ब्राज़ील में अब तक संक्रमण के कुल 2,71,628 मामले दर्ज किए गए हैं और 17,971 लोगों की मौत हुई है.

Subscribe to Our Newsletter

  • White Facebook Icon

©