top of page

'भारत के पावरग्रिड सिस्टम को Chinese Hackers ने बनाया था निशाना'

Massachusetts की कंपनी Recorded Future ने अपनी हालिया रिपोर्ट में चीन के समूह Red Eco की ओर से भारतीय ऊर्जा क्षेत्र को निशाना बनाए जाने का ज़िक्र किया है.

- Khidki Desk

अमेरिका की एक कंपनी ने अपने हालिया अध्ययन में दावा किया है कि भारत और चीन के बीच सीमा पर जारी तनाव के दौरान चीन सरकार से जुड़े हैकरों के एक समूह ने मालवेयर के ज़रिए भारत के पावरग्रिड सिस्टम को निशाना बनाया.


आशंका है कि पिछले साल मुंबई में बड़े स्तर पर बिजली आपूर्ति ठप होने के पीछे शायद यही मुख्य कारण था. मैसाचुसेट्स की कंपनी रिकॉर्डेड फ्यूचर ने अपनी हालिया रिपोर्ट में चीन के समूह रेड इको की ओर से भारतीय ऊर्जा क्षेत्र को निशाना बनाए जाने का ज़िक्र किया है.

पिछले साल अक्तूबर में मुंबई में एक ग्रिड ठप होने से बिजली गुल हो गई थी. इससे ट्रेनें भी रास्ते में ही रुक गयी और महामारी के कारण घर से काम रहे लोगों का कार्य भी प्रभावित हुआ और आर्थिक गतिविधियों पर भारी असर पड़ा था.


रिकॉर्डेड फ्यूचर ने ऑनलाइन सेंधमारी संबंधित रिपोर्ट के प्रकाशन के पहले भारत सरकार के संबंधित विभागों को इस बारे में जानकारी दी. रिपोर्ट में यह भी आरोप लगाया गया कि कथित रूप से भारत प्रायोजित समूह साइडविंडर ने 2020 में चीनी सेना और सरकारी प्रतिष्ठानों को निशाना बनाया.


यह रिपोर्ट ऐसे समय आई है जब चीन और भारत की सेनाएं पूर्वी लद्दाख में तनावपूर्ण सीमाओं से अपने सैनिकों को पीछे हटा रही है. दूसरी तरफ़ चीन के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता वांग वेनबिंग ने इन आरोपों को ख़ारिज़ करते हुए इसे बिना सबूत ग़ैरज़िम्मेदाराना और ग़लत इरादों से लगाया गया आरोप बताया है.


bottom of page