ट्विटर पर साइबर हमला. हैक हुए हाई प्रोफ़ाइल अकाउंट

हैकर्स ने उन प्रभावशाली लोगों के एकाउंट्स को निशाना बनाया जिनके दस लाख से अधिक फ़ॉलोअर्स थे. इधर ट्विटर ने भी इस बात की पुष्टि करते हुए मामले की पूरी जांच की बात कही है.

-khidki desk



बीते बुधवार को ट्विटर पर अरबपति कारोबारी एलन मस्क, जेफ़ बेज़ोस और बिल गेट्स समेत कई बड़े नेताओं के ट्विटर अकाउंट पर एक पोस्ट दिखाई दिया जिसमें लोगों से 'समाज को लौटाने की अपील करते हुए' दान मांगा गया था. इसमें डिजिटल करेंसी बिटक्वाइन में एक हज़ार डॉलर भेजने के बदले दो हज़ार डॉलर वापस भेजने की लुभावनी बात भी कही गयी थी. साथ ही बिटक्वाइन के पते के लिंक के साथ ट्वीट में कोविड 19 महामारी की वजह से दान करने की बात भी जोड़ी गयी थी.


इससे पहले कि ट्विटर यूजर्स ये समझ पाते कि असल में इन प्रभावशाली लोगों के एकाउंट्स हैक हुए हैं, वे एक लाख डॉलर से अधिक डॉलर भेज चुके थे और हैकर्स ने अपना मकसद पूरा कर लिया था. इसके कुछ मिनटों ही बाद ये ट्वीट गायब हो गए. जिन लोगों के अकाउंट्स हैक हुए थे उनमें मशहूर रैपर कानये वेस्ट, पूर्व राष्ट्रपति बराक ओबामा और डेमोक्रेटिक पार्टी के राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार जो बिडेन भी शामिल थे.


मामले के सामने आने के बाद ये साफ़ हो गया है कि हैकर्स ने उन प्रभावशाली लोगों के एकाउंट्स को निशाना बनाया जिनके दस लाख से अधिक फ़ॉलोअर्स थे. इधर ट्विटर ने भी इस बात की पुष्टि करते हुए मामले की पूरी जांच की बात कही है. उसने माना है कि ये सब कुछ बेहद तैयारी के साथ किया गया था.


जानकार भी मान रहे हैं कि हैंकिंग और फर्जीवाड़े के जरिये से पैसा कमाने की सबसे बड़ी घटना हो सकती है. माना ये भी जा रहा है कि ट्विटर के रुट को ऐक्सेस करने के बाद ही इस तरह के ट्वीट किये जा सकते थे, इसलिए इस तरह ट्वीट्स को पहचान पाना बेहद मुश्किल साबित होगा। वहीं इस तरह हैकिंग से ट्विटर की सुरक्षा प्रणाली पर भी सवाल उठे हैं. कई जानकार मान रहे हैं कि हैकर्स ने ट्विटर की सुरक्षा की रीढ़ में सेंध लगा दी है और इससे इसकी साख पड़ेगा।