750 अरब यूरो के कोरोनावायरस रिकवरी प्लान को लेकर डैडलॉक जारी

इस रिकवरी पैकेज के बारे में जिन मसलों को लेकर चर्चा हो रही है उनमें, इस पैकेज़ के आकार की पर्याप्तता, इसके इस्तेमाल के लिए इसके आबंटन के मानदंडों और ख़र्चों की निगरानी जैसे मसले शामिल हैं.

- Khidki Desk


कोरोना वायरस महामारी की चपेट में आकर ढह गई यूरोपीय अर्थव्यवस्थाओं में फिर से जान फूकने के लिए यूरोपीय यूनियन की ओर से लाए गए 750 अरब यूरो के एक राहत पैकेज को लेकर यूनियन के नेताओं के बीच चर्चा के लिए ब्रसेल्स में एक मीटिंग जारी है. शुक्रवार और फिर शनिवार को भी देर शाम तक हुई चर्चा के बावजूद भी कोई निष्कर्ष नहीं निकल पाया था. नेताओं ने इसे एक बेहद ​जटिल चर्चा कहा है.


हालांकि अब चर्चा को एक और दिन के लिए आगे बढ़ा दिया गया है.


इस रिकवरी पैकेज के बारे में जिन मसलों को लेकर चर्चा हो रही है उनमें, इस पैकेज़ के आकार की पर्याप्तता, इसके इस्तेमाल के लिए इसके आबंटन के मानदंडों और ख़र्चों की निगरानी जैसे मसले शामिल हैं.


शुक्रवार को नेताओं के बीच यूरोपियन काउंसिल के अध्यक्ष चार्ल्स मिशैल की ओर से लाए गए 750 अरब यूरो के रिकवरी फंड और 1 ट्रिलियन यूरो के 2021 से 2027 तक के लिए एक दीर्घ अवधि के बजट पर चर्चा होती रही.


यूरोपियन यूनियन के महत्वपूर्ण नेताओं ने इसे एक बेहद जटिल निगोशिएशन कहा है क्योंकि इन 27 यूरोपीय देशों में आपसी सहमति नहीं बन पा रही कि धनराशि के आबंटन का आधार क्या हो, प्राथमिकता किन देशों को दी जाए और क्या राशि को ऋण की तरह दिया जाए या मुआवजे की तरह.


जर्मनी की चांसलर Angela Merkel, जिन्होंने इसी बातचीत के बीच अपना 66 वां जन्मदिन भी मनाया, उनका क​हना था किसी समझौते तक पहुंचने के कम ही आसार दिखाई दे रहे हैं क्योंकि बेहद जटिल निगोशिएशन है.

Subscribe to Our Newsletter

  • White Facebook Icon

©