श्रीलंका में गर्माई बुर्क़ा और इस्लामी स्कूलों पर बैन को लेकर बहस

श्रीलंका की सरकार ने कहा कि वह न सिर्फ सिर से पैर तक ढकने वाले बुर्के को बैन करेगी, बल्कि देशभर में चल रहे एक हजार इस्लामी स्कूलों को भी बंद कर देगी.

- Khidki Desk

श्रीलंका में सरकार आतंक और कट्टरपंथ पर लगाम लगान के लिए कई कदम उठाने जा रही है. हाल में ही स्विटजरलैंड में बुरके पर प्रतिबंध के पक्ष में मतदान के बाद अब श्रीलंका की सरकार भी ऐसा ही कदम उठाने जा रही है.


श्रीलंका की सरकार ने कहा कि वह न सिर्फ सिर से पैर तक ढकने वाले बुर्के को बैन करेगी, बल्कि देशभर में चल रहे एक हजार इस्लामी स्कूलों को भी बंद कर देगी. श्रीलंका सरकार के इस कदम से वहां की आबादी में बड़े हिस्सेदारी वाले मुसलमानों पर इसका गहरा प्रभाव पड़ेगा.



इसके अलावा एक दूसरे फैसले में सरकार ने शनिवार को एक विववादास्पद आतंकरोधी कानून की घोषणा की है.इसका मकसद यह बताया गया है कि इससे धार्मिक कट्टरपंथ को रोका जा सकेगा.


इस कानून में सरकार को असीमित ताकत मिल जाएगी, जिससे कि सिर्फ संदेह के आधार पर ही किसी को पकड़कर उसका कट्टरपंथ खत्म करने के लिए दो साल तक कैद किया जा सकेगा.


पब्लिक सिक्योरिटी विभाग के मंत्री शरत वीरासेखरा ने कहा कि सरकार ये कदम राष्ट्रीय सुरक्षा के मद्देनजर उठा रही है.