हॉंग कॉंग पर चीन, ब्रिटेन में तकरार

ब्रिटेन में चीन के दूतावास की वेबसाइट में दूतावास के प्रवक्ता की ओर से जारी एक बयान में ब्रिटेन के हॉंगकॉंग के साथ प्रत्यर्पण संधि को स्थगित करने की आलोचना की गई है. इस बयान में कहा गया है कि अगर यूके ग़लत रास्ते पर और आगे जाने पर अड़ा रहता है, तो उसे इसके परिणाम भुगतने पड़ेंगे.

- Khidki Desk


हॉंग कॉंग के नए सु​रक्षा क़ानून के विरोध में हॉंग कॉंग के साथ ​प्रत्यप्रण संधि को निलंबित करने की ब्रिटेन की घोषणा के बाद अब चीन ने ब्रिटेन पर आरोप लगाया है कि वह चीन के आंतरिक मामलों में दख़ल देकर अंतर्राष्ट्रीय क़ानूनों और अंतर्राष्ट्रीय संबंधों के बुनियादी सिद्धांतों का उल्लंघन कर रहा है. चीन ने कहा है वह इसके ख़िलाफ़ प्रतिरोध करेगा.


हॉंग कॉंग में चीन ने नया सुर​क्षा क़ानून लागू किया है, जिसकी दुनिया के कई देशों ने आलोचना की है और उसे हॉंग कॉंग की स्वायत्ता पर हमला बताया है.


ब्रिटेन में चीन के दूतावास की वेबसाइट में दूतावास के प्रवक्ता की ओर से जारी एक बयान में ब्रिटेन के हॉंगकॉंग के साथ प्रत्यर्पण संधि को स्थगित करने की आलोचना की गई है. इस बयान में कहा गया है कि अगर यूके ग़लत रास्ते पर और आगे जाने पर अड़ा रहता है, तो उसे इसके परिणाम भुगतने पड़ेंगे.


इधर ब्रिटिश विदेश सचिव डोमिनिक राब ने संसद में कहा है कि प्रत्यर्पण संधि को स्थगित करने का यह क़दम तुरंत प्रभावी होगा.


संयुक्त राज्य अमेरिका, ऑस्ट्रेलिया और कनाडा ने पहले ही हॉंग कॉंग के साथ अपनी प्रत्यर्पण व्यवस्था को निलंबित कर दिया है।