'ईरान पर बरक़रार रहेंगे आर्थिक प्रतिबंध' : जो बाइडेन

पूर्व राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रम्प ने 2018 में 'ईरान परमाणु समझौते' से हाथ पीछे खींच लिए थे और उस पर प्रतिबंधों को फिर से लागू कर दिया था. इसकी प्रतिक्रिया में ईरान ने भी समझौते की अपनी प्रतिबद्धताओं से इनकार कर दिया था.

- Khidki Desk

अमेरिकी राष्ट्रपति जो ​बाइडेन ने कहा है कि उनकी सरकार ईरान पर लगाए गए आर्थिक प्रतिबंधों को तब तक नहीं हटाएगी जब ​तक कि वह 2015 के परमाणु समझौतों की शर्तों का अनुपालन नहीं करता है.


रविवार को यह बात बाइडेन ने अमेरिकी न्यूज़ चैनल सीबीएस न्यूज़ को दिए एक साक्षात्कार में कही है.


इधर ईरान के सुप्रीम लीडर अयातुल्लाह अली ख़मनेई ने कहा है कि ईरान इन समझौतों के अनुपालन के बारे में तभी सोच सकता है जबकि पहले अमेरिका ईरान पर लगे सभी आर्थिक प्रतिबंधों को हटाए.


2015 के ईरान परमाणु समझौते के तहत ईरान के परमाणु कार्यक्रम को सीमित किया गया था वहीं इसके बदले ईरान पर अंतर्राष्ट्रीय आर्थिक प्रतिबंधों में ढील दी गई ​थी. हालांकि पूर्व राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रम्प ने 2018 में इस समझौते से हाथ पीछे खींच लिए थे और प्रतिबंधों को फिर से लागू कर दिया था.


इसकी प्रतिक्रिया में ईरान ने भी समझौते की अपनी प्रतिबद्धताओं से इनकार कर दिया था.


ईरान दावा करता रहा है कि उसका परमाणु कार्यक्रम शांतिपूर्ण है और वह ऊर्जा ज़रूरतों के लिए इसका इस्तेमाल करना चाहता है. ईरान ने बीते दौर में यूरेनियम का एक बड़ा भंडार इक्ट्ठा कर लिया है जिसे लेकर अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर चिंता जताई जाती रही है.