एनआरसी की लिस्ट जारी, 19 लाख से अधिक लोग अवैध घोषित

असम में एनआरसी की अंतिम लिस्ट जारी ​हो गई है. इसके मुताबिक 19,06657 लोगों को नागरिकता को अवैध घोषित कर दिया गया है. हालांकि अब भी ऐसे लोग जो अपनी नागरिकता को साबित करने में नाकाम रहे वे निर्धारित साक्ष्यों के साथ नागरिकता के लिए फ़ॉरेन ट्रायब्यूनल में अपील कर सकते हैं.

समाचार एजेंसी एएनआई ने अपने एक ट्वीट में एनआरसी के स्टेट कॉर्डिनेटर प्र​तीक हजेला के हवाले से बताया है कि 3,11,21,004 लोग अंतिम एसीआर लिस्ट में वैध पाए गए हैं.


उधर लिस्ट के जारी होने से पहले राज्य के मुख्यमंत्री सर्बानंद सोनोवाल ने ट्वीटर पर जारी एक संदेश में लोगों से कहा है कि नाम नहीं आने की सूरत में वो न घबराएं और शांति बनाए रखें.




सोनोवाल ने कहा, "एनआरसी की लिस्ट में नाम नहीं आने वाले लोगों को ज़रा भी घबराने की ज़रूरत नहीं क्योंकि गृहमंत्रालय ने पहले ही सुनिश्चित कर दिया है, जिनका नाम इस लिस्ट में नहीं होगा उनको फ़ॉरेन ट्रायब्यूनल में जाकर अपील करने का अधिकार होगा. इस मामले में सरकार की तरफ से उनकी हरसंभव मदद की जाएगी."


फ़ॉरेन ट्रायब्यूनल में अपील करने का समय अब बढ़ाकर 60 की बजाए 120 दिन कर दिया गया है.


मीडिया रिपोर्ट्स के ​मुताबिक एनआरसी की अंतिम लिस्ट जारी होने के बाद से NRC केंद्रों के बाहर अपना और अपने परिजनों का नाम लिस्ट में देेखने के लिए लोगों की लंबी क़तारें लगी हुई हैं. लिस्ट में नाम नहीं मिलने से कई लोग अपने भविष्य को लेकर असमंजस में हैं.

Subscribe to Our Newsletter

  • White Facebook Icon

©