माली में सरकार के ख़िलाफ़ उग्र प्रदर्शन

शुक्रवार को उस वक़्त अफ़रा तफ़री मच गई जब प्रदर्शनकारियों ने नैश्नल एसेम्ब्ली, नैश्नल ब्रॉडकास्टिंग हाउस और दो मुख्य पुलों समेत कई महत्वपूर्ण जगहों में क़ब्ज़ा कर लिया. प्रदर्शनकारियों को हटाने के लिए पुलिस ने आंसू गैस के गोले दागे.

- Khidki Desk


Representative Image

माली में सरकार के ख़िलाफ़ जबरदस्त प्रदर्शन चल रहे हैं. शुक्रवार को उस वक़्त अफ़रा तफ़री मच गई जब प्रदर्शनकारियों ने नैश्नल एसेम्ब्ली, नैश्नल ब्रॉडकास्टिंग हाउस और दो मुख्य पुलों समेत कई महत्वपूर्ण जगहों में क़ब्ज़ा कर लिया. प्रदर्शनकारियों को हटाने के लिए पुलिस ने आंसू गैस के गोले दागे.


राष्ट्रपति इब्राहिम बाउबाकर कीटा के ख़िलाफ़ विपक्षी गठबंधन की ओर से चलाए जा रहा, पिछले दो महिनों के भीतर यह तीसरा ऐसा बड़ा प्रदर्शन है. इसके चलते इस युद्धग्रस्त अफ़्रीकी देश के राष्ट्रपति कीटा क़ाफ़ी दबाव में हैं. प्रदर्शनकारी सरकार पर आरोप लगा रहे हैं कि वह देश की सुरक्षा और आर्थिक मोर्चे पर नाक़ाम रही है और साथ गहरे भ्रष्टाचार में डूबी है. प्रदर्शन कारी इन आरोपों के साथ राष्ट्रपति कीटा से इस्तीफ़े की मांग कर रहे हैं.


कीटा इसी हफ़्ते अपने विरोधियों को ख़ुश करने के लिए कुछ राजनीतिक सुधारों का प्रस्ताव लेकर आए थे जो कि असफल रहा. हालांकि बावजूद इसके अब भी कीटा ने अपने राजनीति विपक्षियों की उस मांग को नहीं माना है जिसमें वे संसद को भंग करने और एक ट्रांजिशन सरकार बनाने की बात कर रहे हैं।

Subscribe to Our Newsletter

  • White Facebook Icon

©