‘George Floyd के परिवार को 2.7 करोड़ डालर का मुआवजा

पिछले साल 25 मई को एक गोरे पुलिस अधिकारी Derek Chauvin ने लगभग नौ मिनट तक फ्लॉएड की गर्दन को अपने घुटनों से दबाए रखा था, जिसके बाद उनकी मौत हो गई थी.

- Khidki Desk


अमेरिका के मिनियापोलिस शहर की सिटी काउंसिल ने पुलिस हिरासत में काले व्यक्ति जॉर्ज फ्लॉएड की मौत के मुकदमे में उसके परिवार के साथ शुक्रवार को 2.7 करोड़ अमेरिकी डॉलर में समझौता किया.


फ्लॉएड परिवार के वकील बेन क्रम्प ने दोपहर एक बजे प्रेस कॉन्फ्रेंस बुलाया है. गौरतलब है कि पिछले वर्ष 25 मई को एक गोरे पुलिस अधिकारी Derek Chauvin ने लगभग नौ मिनट तक फ्लॉएड की गर्दन को अपने घुटनों से दबाए रखा था, जिसके बाद उनकी मौत हो गई थी.


फ्लॉएड के परिवार ने जुलाई में शहर प्रशासन के खिलाफ संघीय नागरिक अधिकार के उल्लंघन का मुकदमा दायर किया था. उनकी मौत के लिए Chauvin और चार अन्य अधिकारियों पर आरोप लगाया गया कि शहर ने अपने पुलिस बल में अत्यधिक बल प्रयोग और नस्लवाद की संस्कृति को पनपने दिया.



जॉर्ज की बहन ब्रिजेट ने कहा, उन्हें और परिवार को इस बात की खुशी है कि आखिरकार उनके भाई को इंसाफ दिलाने का यह संघर्ष अपने अंजाम तक पहुंचा. उनकी मौत ने दुनिया को जीने की नई राह दिखाई. परिजनों ने कहा कि हमारा मकसद सिर्फ रकम लेना नहीं था, बल्कि हम चाहते हैं कि न्याय प्रक्रिया में सुधार हो और जॉर्ज के हत्यारों को सख्त सजा मिले.


वहीं उनके परिवार के वकील बेन क्रम्प ने कहा कि अब ब्लैक लाइव्स मैटर सिर्फ एक आंदोलन नहीं, बल्कि हमारे कार्यकलाप में दिखाई दे रहा है. साथ ही सिटी के नेतृत्व का भी शुक्रिया अदा किया.

गौरतलब है कि फ्लॉएड की मौत के बाद मिनियापोलिस समेत पूरे अमेरिका में हिंसक विरोध प्रदर्शन हुए और देशभर में नस्लीय भेदभाव के खिलाफ ब्लैक लाइव्स मैटर नाम से आंदोलन चलाकर आवाज उठाई गई. जो धीरे-धीरे पूरी दुनिया में रंगभेद और नस्लभेद के खिलाफ आवाज बन गए.यूरोप समेत पूरी दुनिया में अश्वेतों के साथ दशकों से हो रहे भेदभाव के खिलाफ लोग सड़कों पर उतर आए. यही नहीं, माना जाता है कि जिस तरह उस वक्त की डोनाल्ड ट्रंप सरकार ने इस मुद्दे पर प्रदर्शनकारियों को लेकर कड़ा रुख अपनाया, उसका खामियाजा उन्हें चुनाव में भी भुगतना पड़ा और रिपब्लिकन पार्टी हार गई.


जॉर्ज फ्लॉयड को एक दुकान में नकली बिल का इस्तेमाल करने के संदेह में गिरफ्तार किया गया था। उन्हें गिरफ्तार करने वाले Derek Chauvin ने 8 मिनट तक उनकी गर्दन अपने घुटनों से दबाए रखी थी. फ्लॉएड इस दौरान मदद के लिए चिल्लाते रहे और आखिर में उनकी मौत हो गई.



SUPPORT US TO MAKE PRO-PEOPLE MEDIA WITH PEOPLE FUNDING.

Subscribe to Our Newsletter

© Sabhaar Media Foundation

  • White Facebook Icon

Nainital, India