'हमारी गर्दन से अपने घुटने हटाओ'

ज्यॉर्ज फ्लॉयड के लिए आयोजित श्रद्धांजलि सभा में नस्लभेद के ख़िलाफ़ फूटा आक्रोश.

- Khidki Desk





आठ मिनट छियालीस सेकेंड्स की खामोशी.. आठ मिनट छियालीस सेकेंड की प्रार्थना.. यह ठीक उतना ही समय था, जितना गोरे पुलिसकर्मी डेरेक ने अपने घुटने से जॉर्ज की गर्दन को दबाए रखा था. तब तक जब तक, यह कहते-कहते उनकी सांस हमेशा के लिए नहीं थम गई, कि आइ कांट ब्रीद... यानि मैं सांस नहीं ले पा रहा हूं..


बृहस्पतिवार को यह नज़ारा मिनेसोटा प्रांत के मिनियापोलिस शहर की नॉर्थ सेंट्रल यूनिवर्सिटी का था, जहां ज्यॉर्ज फ्लॉयड के लिए श्रद्धांजलि सभा आयोजित की गई थी. इस सभा में शामिल हजारों लोगों ने आठ मिनट छियालीस सेकेंड्स तक अपने सिर को झुकाकर रखा और आंखें बंद कर ज्यॉर्ज के लिए अपनी श्रद्धा जताई.


यह क्षण भावुक भी थे, ग़ुस्से से भरे भी और अमेरिका और पूरी दुनिया में नस्लभेद के ख़िलाफ़ उम्मीद और प्रेरणा लिए भी.


इस मौके पर गायिका टिवाना पोर्टर ने अपनी दर्द भरी आवाज़ में गीत गाकर ज्यॉर्ज को अंतिम विदाई दी. इस मौक़े पर ज्यॉर्ज के एक भाई फिलोनीस ने उन्हें याद करते हुए रुंधे गले से कहा —


'' इतने सारे लोग मेरे भाई के इकट्ठा हुए हैं, यह मेरे लिए अद्भुत् है कि उसने इतने लोगों के दिल को छुआ है. हर कोई ज्यॉर्ज के लिए न्याय चाहता है.. उसे मिल कर रहेगा.. उसे मिल कर रहेगा.. ''

इस मौक़े पर उनके अन्य परिजनों ने भी ज्यॉर्ज को रहमदिल और अच्छे इंसान के रूप में याद किया. काले लोगों के अधिकारों के लिए काम करने वाले वक़ील बेंजामिन क्रैंप और सिविल लिबर्टी कार्यकर्ता रेवरेंड एल शॉर्पटन ने आक्रोश के साथ अपनी बात रखी. शॉर्पटन ने कहा—



" जॉर्ज फ्लॉयड की कहानी हर काले व्यक्ति की कहानी है. क्योंकि पिछले 401 सालों से हम वो नहीं बन पा रहे जो हम बनना चाहते हैं और जिसके सपने देखते हैं. ऐसा सिर्फ़ इसलिए हो रहा है, क्योंकि तुमने हमारी गर्दन अपने घुटनोें तले दबाई हुई है. तुम हमें कम फ़ंड वाले जिन स्कूलों में भेजते हो हम उससे कहीं ज्यादा प्रतिभाशाली हैं। लेकिन हमारी गर्दन तुम्हारे घुटने के नीचे दबी हुई है. हम बड़े-बड़े कॉर्पोरेशन चला सकते हैं. हम सड़कों पर केवल उधम मचाने वाले लोग नहीं हैं. हमारे पास रचनात्मक कौशल है और हम वह सब करने योग्य हैं, जो दूसरे करते हैं, लेकिन हम अपनी गर्दन तुम्हारे घुटनों के नीचे से आज़ाद नहीं कर पा रहे. जो जॉर्ज के साथ हुआ वह इस देश में हर काले व्यक्ति के साथ हर रोज होता रहा है, चाहे वह शिक्षा का क्षेत्र हो या चिकित्सा व्यवस्था हो या अमरीकी जीवन का कोई भी पहलू हो, हम हर दिन-हर पल घुटन महसूस करते हैं. अब वक्त आ गया है कि हम जॉर्ज का नाम लेकर उठ खड़े हों और ज़ोरदार तरीके से कहना शुरू करें कि अपना घुटना हमारी गर्दन से हटाओ."


मंगलवार को ह्यूस्टन, टैक्सास में फ्लॉइड को दफ़नाया जाएगा, जहां वह पले-बढ़े थे और इस हफ़्ते के आख़िर में उनके जन्मस्थान नॉर्थ कैरोलिना में भी एक श्रद्धांजलि सभा होगी.

Subscribe to Our Newsletter

  • White Facebook Icon

©