कोरोना इलाज के लिए ब्राजील में हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्वीन को हरी झंडी

ब्राज़ील में हल्के संक्रमण के मरीज़ों पर भी इसका इस्तेमाल करने के लिए राष्ट्रपति जायर बोलसोनारो ने दबाव बनाया है. जबकि इन दवाओं के इस्तेमाल के बारे में अब तक कोई भी स्वास्थ ऐजेंसी निर्णायक निष्कर्षों पर नहीं पुहंची है.

-khidki desk




कोरोना के इलाज और इससे एहतियात के लिए अमेरिकी राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रम्प के ख़ुद हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्वीन के सेवन करने की बात कहने के बाद अब बुरी तरह कोरोना संक्रमण की मार झेल रहे ब्राज़ील के स्वास्थ मंत्रालय ने भी कोरोना के इलाज के लिए आम तौर पर मलेरिया के इलाज में प्रयोग में लाई जाने वाली क्लोरोक्वीन और हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्वीन के इस्तेमाल को हरी झंडी दे दी है.


यहां तक कि ब्राज़ील में हल्के संक्रमण के मरीज़ों पर भी इसका इस्तेमाल करने के लिए राष्ट्रपति जायर बोलसोनारो ने दबाव बनाया है. जबकि इन दवाओं के इस्तेमाल के बारे में अब तक कोई भी स्वास्थ ऐजेंसी निर्णायक निष्कर्षों पर नहीं पुहंची है. नए दिशानिर्देशों में स्वास्थ मंत्रालय ने डॉक्टरों को इन दवाओं के साथ ही एंटीबायोब्कि एज़िथ्रोमाइसिन के इस्तेमाल की भी सलाह दी है.


इसमें मरीज़ को इलाज से पहले एक दस्तावेज़ में हस्ताक्षर करने होंगे जिसमें चेतावनी लिखी होगी कि इन दवाओं के इस्तेमाल से होने वाले संभावित साइड इफ़ैक्ट्स, जिनमें कि हार्ट और लिवर का काम करना बंद करने, रेटीना को नुकसान होने और यहां तक कि मृत्यु हो जाने, जैसे ख़तरों की ज़िम्मेदारी ख़ुद मरीज़ की होगी.


इससे पहले बोलसोनारो कोरोनावायरस को मामूली फ़्लू बता चुके हैं. उन्होंने सोशल डिस्टेंसिंग और लॉकडाउन का विरोध किया था और उसके विरोध में प्रदर्शनों में हिस्सा लिया.


ब्राज़ील में दिन ब दिन कोरोनावायरस का प्रकोप और भयानक होता जा रहा है. कहा जा रहा है कि दक्षीणी अमेरिका का यह देश कोरोना संक्रमण के मामलों में जल्द ही रूस को पीछे छोड़ दूसरे नम्बर पर आ जाएगा. अब तक यहां संक्रमण के 2,91,579 मामले दर्ज हुए हैं और 19,000 मौतें.

Subscribe to Our Newsletter

  • White Facebook Icon

©