ईरानी ​परमाणु ठिकानों की ​जांच के लिए IAEA ने पास किया प्रस्ताव

IAEA का दावा है कि ईरान दो जगहों पर साल 2000 की शुरुआत से ही चोरी-छिपे ढंग से कुछ परमाणु गतिविधियों को चला रहा है.

- Khidki Desk



संयुक्त राष्ट्र की न्यूक्लियर वॉचडॉग अंतर्राष्ट्रीय परमाणु ऊर्जा एजेंसी यानी आईएईए ने एक प्रस्ताव पास कर ईरान से, लगातार विवादित रहे दो परमाणु स्थलों तक एजेंसी के निरीक्षकों की पहुंच सुनिश्चित करने को कहा है.


माना जाता है कि ईरान इन दोनों जगहों पर साल 2000 की शुरुआत से ही चोरी-छिपे ढंग से कुछ परमाणु गतिविधियों को चला रहा है.


साल 2012 के बाद ये पहली बार है जब संयुक्त राष्ट्र के न्यूक्लियर वॉचडॉग ने इस तरह का प्रस्ताव पास किया है। इस प्रस्ताव को ब्रिटेन, फ्रांस और जर्मनी ने रखा। अमेरिका ने भी इसका समर्थन किया जबकि रूस और चीन ने इस प्रस्ताव के ख़िलाफ़ वोट किया।


हालांकि ईरान ने कहा है कि एजेंसी ने ईरान पर मनगढ़ंत तथ्यों के आधार पर ये प्रस्ताव पास किया है और वह इस तरह की कोशिशों का माक़ूल जवाब देगा।


बता दें कि ईरान और पश्चिमी देशों के बीच चार साल पहले हुआ परमाणु समझौता इस साल की शुरुआत में पूरी तरह टूट गया था।

Subscribe to Our Newsletter

  • White Facebook Icon

©