इमरान ख़ान ने दिया मोदी के पत्र का जवाब

इससे पहले 23 मार्च को मोदी ने पाकिस्तान ​के गणतंत्रदिवस के मौके पर पाकिस्तान को एक पत्र लिख कर बधाई दी थी जिसमें दोनों देशों के बीच शांतिपूर्ण रिश्तों का आह्वान किया गया था.

- Khidki Desk


दक्षिण एशिया के भूगोल में अपने तनावपूर्ण रिश्तों के इतिहास के बीच, भारत और पाकिस्तान के प्रधानमंत्रियों के हालिया पत्राचार के साथ दोनों देशों के बीच फिर एक सकारात्मक चर्चा का दौर शुरू हुआ है.


मंगलवार को पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान ख़ान ने अपने भारतीय समकक्ष नरेंद्र मोदी के पत्र का जवाब देते हुए लिखा कि पाकिस्तान भारत के साथ एक शांतिपूर्ण रिश्ते चाहता है.


इससे पहले 23 मार्च को मोदी ने पाकिस्तान ​के गणतंत्रदिवस के मौके पर पाकिस्तान को एक पत्र लिख कर बधाई दी थी जिसमें दोनों देशों के बीच शांतिपूर्ण रिश्तों का आह्वान किया गया था.


अपने पत्र में पाकिस्तानी प्रधानमंत्री ने लिखा है, ''पाकिस्तान की जनता भी भारत समेत अपने पड़ोसी देशों के साथ शांतिपूर्ण और सहयोगपूर्ण रिश्ते चाहती है.'' आगे लिखा गया है, ''मैं आपको पाकिस्तान दिवस के मौके पर आपकी शुभकामनाओं के लिए आपका शुक्रिया अदा करता हूं.''


इस पत्र में प्रधानमंत्री इमरान खान ने कश्मीर के मुद्दे को सुलझाने जाने का भी ज़िक्र किया है जो कि दोनों देशों के बीच विवाद की सबसे अहम वजह है. उन्होंने लिखा है, ''हम इस बात से सहमत हैं कि दक्षिण एशिया में स्थाई शांति और स्थिर​ता पूरी तरह भारत और पाकिस्तान के बीच चल रहे मुद्दों के सुलझने पर ही निर्भर है, ख़ास तौर पर जम्मू और कश्मीर के विवाद के सुलझने पर.''