नेपाल में 17 अगस्त से खुलेंगी अंतर्राष्ट्रीय उड़ानें

दुनिया की सबसे ऊँची चोटी माउंट ऐवरेस्ट के अलावा भी सबसे ऊँचे पहाड़ों में से 14 पहाड़ नेपाल में हैं, जो माउंटेन क्लाइंबिंग के शौकीनों की सबसे पसंदीदा डैस्टिनेशंस हैं. लॉकडाउन और अंतर्राष्ट्रीय उड़ानों के बाधित होने से नेपाल के पर्यटन उद्योग पर क़ाफ़ी गहरा असर पड़ा है.

कोरोनावायरस के चलते तक़रीबन 4 महीने से अंतर्राष्ट्रीय उड़ानों पर रोक के बाद अब नेपाल ने 17 अगस्त से अंतर्राष्ट्रीय उड़ानों को फिर से शुरू करने का फ़ैसला लिया है.


मार्च में नेपाल में पहला कोरोना संक्रमण का मामला सामने आने के बाद देश भर में लॉकडाउन लगाया गया था और निर्धारित उड़ानों को रोक दिया गया था. अब तक नेपाल में कोरोना संक्रमण के कुल 17844 मामले सामने आए हैं और 40 मौतें दर्ज की गई हैं.


नेपाल की पर्यटन क़ाफ़ी निर्भरता है. दुनिया की सबसे ऊँची चोटी माउंट ऐवरेस्ट के अलावा भी सबसे ऊँचे पहाड़ों में से 14 पहाड़ नेपाल में हैं, जो माउंटेन क्लाइंबिंग के शौकीनों की सबसे पसंदीदा डैस्टिनेशंस हैं. लॉकडाउन और अंतर्राष्ट्रीय उड़ानों के बाधित होने से नेपाल के पर्यटन उद्योग पर क़ाफ़ी गहरा असर पड़ा है.

Subscribe to Our Newsletter

  • White Facebook Icon

©