International Bulletin: 'ईरान ने किया पहला मिलिट्री सेटेलाइट लॉंच'

आज आहै 22 अप्रैल, दिन बुधवार, आप पढ़ रहे हैं खिड़की इंटरनेश्नल बुलेटिन. यहां हर रोज़ हम आपके लिए लेकर आते हैं दुनिया भर की अहम ख़बरें.

- Khidki Desk

ईरान ने किया सेटलाइट लॉंच

इधर कोरोना वायरस से मची अफ़रातफ़री के बीच अगली ख़बर ईरान से है जहां इस्लामिक रिवॉल्यूसनरी गार्ड्स ने दावा से है उसने बुधवार को सफलतापूर्वक अपना पहला मिलिट्री सेटलाइट लॉंच किया है. अमेरिका लगातार आरोप लगाता रहा है कि ईरान अपने सेटेलाइट कार्यक्रम के बहाने मिसाइलें तैयार कर रह है. हालांकि ईरान का कहना है कि उसकी ऐरोस्पेस की सारी गतिविधियां अंतराष्ट्रीय जवाबदहियों के दायरे में ही हैं. पिछले हफ़्ते दोनों देशों के बीच फिर तनाव पैदा हो गया था जब अमेरिकी रक्षा मंत्रालय ने आरोप लगया था कि में ग़ल्फ़ ईरानी युद्धपोतों ने उसेके जहाज़ों को परेशान करने की कोशिश की थी।


कारोना से भुखमरी की क़गार पर पहुंचेंगे दोगुना लोग

संयुक्त राश्ट्र के World Food Programme ने कहा है कि कोरोनावायरस के चलते दुनिया भर में भूखमरी की कग़ार पर पहुंचे लोगों की संख्या इस साल ठीक दोगुनी हो जाएगी. WFP की ओर से जारी चौंथी Global Report on Food Crises में कहा गया है कि कि यह संख्या इस बार 26 करोड़ पचास लाख के आसपास होगी जबकि पहले ही 13 करोड़ 50 लाख लोग इन हालातों में ज़िंदगी जी रहे हैं. रिपोर्ट में कहा गया है कि कोरोना महामारी के चलते रोज़मर्रा के साधारण रोज़गारों पर पड़ने वाले असर के चलते यह आंकड़ा तक़रीबन दोगुना हो जाएगा.


जेनेवा से एक ​वीडियो कांफ्रेंसिंग पर पत्रकारों से बात करते हुए WFP के मुख्य अर्थशास्त्री और शोध, आंकलन और निगरानी के निदेशक आरिफ़ हुसैन ने कहा, ''कोविड19 संभवत: उन करोड़ों लोगों के लिए तबाही का सबब बन सकता है जो कि पहले से ही ग़रीबी में लटके हुए हैं. हमें इससे जूझने के लिए साथ आना होगा क्योंकि अगर हम ऐसा नहीं करते हैं तो हमें भारी क़ीमत ​चुकानी होगी. वैश्विक स्तर पर यह क़ीमत बहुत अधिक होगी. कई लोग अपनी ज़िंदगी खो देंगे और कई और लोगों की आजीविका लुट जाएगी।''


पृथ्वी दिवस: क्या कोरोना ने किया पृथ्वी का इलाज

आज पृथ्वी दिवस है. मानव सभ्यता के लिए चाहे कोरोना वायरस ने इस दौर में संकट खड़ा कर दिया हो लेकिन दुनिया भर के सबसे प्रदूषित शहरों में हवा के साफ़ होने की ख़बरें हैं. पृथ्वी में धमनियों की तरह फ़ैली ​नदियों और दूसरी जल धाराओं में क्योंकि आद्योगिक क़चरा नहीं फेंका जा रहा है, इससे इनमें पानी साफ़ हुआ है. वीरान सड़कों, गलियों में शर्मीले जंगली जानवरों की ऐसी तस्वीरें खींची गई हैं जो कि सामान्य दिनों में दुर्लभ हैं.


अमेरिकी राज्य ने किया चीन पर मुक़दमा

इसबीच, अमेरिका में रिपब्लिकन पार्टी के नेतृत्व वाले राज्य मिज़ॉउरी ने अमेरिकी संघीय अदालत में कोरोनावायरस को लेकर चीन के नेतृत्व पर मुक़दमा दायर किया है. आरोप लगा गया है कि चीन ने इस महामारी के बारे में जूठ बोलने, जानकारियां छिपाने और समय रहते कार्रवाई नहीं की जिसके चलते यह वायरस दुनिया भर में फ़ैला. यह अपनी तरह का पहला मुक़दमा है जिसमें किसी अमेरिकी राज्य ने ​चीन पर आरोप लगाते हुए मुक़दमा दायर किया है. अमेरिका में ख़ुद राष्ट्रपति ट्रंप चीन पर इस तरह का ​रवैया रखे हुए हैं और उन कारणों की तलाश कर रहे हैं जिससे अं​तर्राष्ट्रीय फ़लक पर चीन को क़ुसूरवार ठहराया जा सके. बहरहाल ट्रम्प पर ख़ुद कोरोनावासरस के प्रकोप के दौरान लापरवाही बरतने और संकट को ठीक से नहीं सम्हाल पाने के आरोप लग रहे हैं. मिज़ॉउरी के अटॉर्नी जनरल एरिक शिम्ट ने कहा,

''चीन की सरकार ने पूरी दुनिया से कोरोना वायस के भयावहता और ख़तरे के बारे में झूठ बोला. उसने व्हीसिलब्लोअर्स को ख़ामोश कर दिया और इस बीमारी को रोकने के लिए मामूली प्रयास किए। उन्हें अपने किए के लिए जवाबदेह होना चाहिए।''


कारोना संक्रमण

पूरी दुनिया में अब तक संक्रमित हुए लोगों की तादात 25,71,660 पहुंच गई है. 1,78,281 मौतें हुई हैं और 7,01,070 लोग ठीक भी हुए हैं.

यहां बताए गए सारे आंकड़े वल्डोमीटर www.worldometers.info से लिए गए हैं.

तो दोस्तो आज का यह इंटरनेश्नल न्यूज़ बुलेटिन आपको कैसा लगा इस बारे में ज़रूर कमेंट करें.


आप जिस भी प्लेटफॉर्म पर खिड़की को सुन रहे हैं लाइक और शेयर करना ना भूलें.


खिड़की के यूट्यूब चैनल को भी सब्स्क्राइब करें और बैल आइकन टैप कर लें ताकि हर अपडेट आपको मिलती रहे.. नमस्कार!

Subscribe to Our Newsletter

  • White Facebook Icon

©