इज़राइल चुनाव, ऐक्ज़िट पोल: नेतेन्याहू के लिए कड़ी चुनौती

इज़राइल के 120 सदस्यीय संसद में एक प्रधानमंत्री को संसद में 61 सीटों के बहुमत की जरूरत है। इज़राइली टीवी चैनल पर प्रसारित एक्ज़िट पोल्स के अनुसार नेतन्याहू की दक्षिणपंथी लिकुड पार्टी और बेनी गैन्ट्ज़ की मध्यमार्गी ब्लू एंड व्हाइट गठबंधन को संसद में 31 से 34 सीटें मिल सकती हैं।

- Khidki Desk




इज़राइल के पब्लिक ब्रॉडकास्टर 'कान' का कहना है कि पीएम बेंजामिन नेतन्याहू की पार्टी और उनके मुख्य विपक्षी , बेनी गैंट्ज़ के बीच कांटे की टक्कर है. इज़राइल के 120 सदस्यीय संसद में एक प्रधानमंत्री को संसद में 61 सीटों के बहुमत की जरूरत है। इजराइली टीवी चैनल पर प्रसारित एक्ज़िट पोल्स के अनुसार नेतन्याहू की दक्षिणपंथी लिकुड पार्टी और बेनी गैन्ट्ज़ की मध्यमार्गी ब्लू एंड व्हाइट गठबंधन को संसद में 31 से 34 सीटें मिल सकती हैं.


बेंजामिन नेतन्याहू, इज़राइल के सबसे लंबे समय तक कार्य करने वाले नेता हैं.अब इस बार भी रिकॉर्ड पांचवां कार्यकाल जीतने के लिए सर-पैर एक कर रहे हैं. नेतन्याहू , जो दक्षिणपंथी लिकुड पार्टी का नेतृत्व करते हैं, ने सत्ता में वापस लौटने पर यहूदी बैंक में यहूदी बस्तियों और अन्य क्षेत्रों के बंधन को नष्ट करने का संकल्प लिया है.


इन एक्ज़िट पोल्स के परिणामों के आधार पर, न तो नेतन्याहू और न ही गैंट्ज़, यिसरेल बेइलिनु के समर्थन के बिना बहुमत गठबंधन बना सकते हैं. हालांकि, ब्लू एंड व्हाइट ने गठबंधन में श्री नेतन्याहू के साथ बैठने से इनकार कर दिया है.


नेतन्याहू को केवल बेनी गैन्ट्ज़ से नहीं , एविगडोर लीबरमैन के नेतृत्व वाली दक्षिणपंथी इसराइल बेटीनू से भी कड़ी चुनौती मिल रही है. लीबरमैन की पार्टी इन चुनावों में किंगमेकर की भूमिका निभा सकती है और सरकार बनाने में भी अहम् भूमिका भी निभा सकती है.


बुधवार की सुबह, यिसरेल बेजितु के नेता एविग्डोर लिबरमैन ने दोहराया कि वह केवल लिकुड और ब्लू और व्हाइट दोनों को शामिल करने वाली सरकार का समर्थन करेंगे.


इन आंकड़ों का मतलब है कि इज़राइल की सत्ता में सबसे अधिक समय तक काबिज़ रहने वाले ताक़तवर नेता नेतेन्याहू के लिए इस बार राह आसान नहीं है.