इस्लामिक स्टेट ने ली महिला पत्रकारों की हत्या की ज़िम्मेदारी

इस्लामिक स्टेट की ओर से कहा गया है कि इन महिला पत्रकारों की हत्या इसलिए की गई, क्योंकि वे एक ऐसी सरकार के वफ़ादार मीडिया स्टेशन के साथ काम कर रही थी जिसने ''अपने धर्म का त्याग'' कर दिया है.

- Khidki Desk

इस्लामिक स्टेट की ओर से कहा गया है कि इन महिला पत्रकारों की हत्या इसलिए की गई, क्योंकि वे एक ऐसी सरकार के वफ़ादार मीडिया स्टेश के साथ काम कर रही थी जिसने ''अपने धर्म का त्याग'' कर दिया है.


इस्लामिक स्टेट ने अफ़ग़ानिस्तान में हुई मीडिया कर्मियों की हत्या की ज़िम्मेदारी ली है जबकि अफ़ग़ान सरकार अब तक इसके लिए तालिबान को ज़िम्मेदार बता रही थी.


इस्लामिक स्टेट की ओर से कहा गया है कि इन महिला पत्रकारों की हत्या इसलिए की गई, क्योंकि वे एक ऐसी सरकार के वफ़ादार मीडिया स्टेश के साथ काम कर रही थी जिसने ''अपने धर्म का त्याग'' कर दिया है.


इन हत्याओं के लिए जिस अभियुक्त की ग़िरफ़्तारी हुई है उसका ताल्लुक तालिबान से रहा है लेकिन तालिबान के प्रवक्ता जबीहुल्ला मुजाहिद ने इस हमले में तालिबान के शामिल होने से इनक़ार किया था.

अफ़ग़ानिस्तान में बीते 6 महीनों में 15 मीडियाकर्मियों की हत्याएं हो चुकी है. इस बीच अफ़ग़ानिस्तान में इन हत्याओं के ख़िलाफ़ आक्रोश देखा जा रहा है. अफ़गान राष्ट्रपति अशरफ़ ग़नी ने इस हमले की निंदा करते हुए कहा है कि यह बेगुनाह हमवतन लोगों ख़ासकर महिलाओं के ख़िलाफ़ अत्याचार है जो कि इस्लाम की शिक्षाओं और अफ़ग़ान संस्कृति और शांति की भावना के ख़िलाफ़ है.