उत्तरकाशी आपदा: नुक़सान का ब्योरा

प्रभावित क्षेत्रों के इस दौरे के बाद मुख्यमंत्री ने बताया कि इस हादसे में अब तक आधिकारित तौर पर 15 लोगों की मौत हुई है, 6 लोग लापता हैं और 8 लोग घायल हुए हैं. मुख्यमंत्री ने आपदा में मारे गए लोगों के लिए परिजनों को 4 लाख रूपये मुआवजे के तौर पर देने की घोषणा की है.

-ब्यूरो रिपोर्ट



रविवार को हुई अतिवृष्टि के बाद, हुई तबाही और राहत कार्यों का जायज़ा लेने उत्तराखंड के मुख्यमंत्री समेत सत्तारूढ़ दल के कई नेताओं ने मंगलवार को उत्तरकाशी के मोरी ज़िले का दौरा किया। हालांकि सोशल मीडिया साइट्स पर मुख्यमंत्री की इस बात के लिए आलोचना हो रही थी कि वे आपदा के तुरंत बाद प्रभावितों की ख़बर लेने के बजाय दिल्ली चले गए थे.


प्रभावित क्षेत्रों के इस दौरे के बाद मुख्यमंत्री ने बताया कि इस हादसे में अब तक आधिकारित तौर पर 15 लोगों की मौत हुई है, 6 लोग लापता हैं और 8 लोग घायल हुए हैं. मुख्यमंत्री ने आपदा में मारे गए लोगों के लिए परिजनों को 4 लाख रूपये मुआवजे के तौर पर देने की घोषणा की है.


उधर अब तक के आंकलन के मुताबिक इस आपदा में कुल 130 करोड़ रूपये का नुकसान हुआ है. इस आपदा से 70 वर्ग किलोमीटर में फ़ैले 51 गांव प्रभावित हुए हैं. इस इलाक़े में 17 घर पूरी तरह नेस्तेनाबूत हो गए हैं और 115 घरों को आंशिक क्षति पहुंची है.


इधर पूरे सूबे में भारी बारिश के चलते आई बाढ़ और भूस्खलनों से 100 से अधिक सड़कें और बिजली के तारों के टूटने से विद्युत व्यवस्था भी बाधित हुई है. सूबे के उच्च हिमालयी क्षेत्रों से संपर्क टूट गया है और जन ​जीवन असामान्य है.