अफ़ग़ान शांति के मसले पर कई देशों की बैठक शुरू

इस बैठक के दौरान अपने भाषण में अफ़ग़ान राष्ट्रपति अशरफ़ ग़नी ने कहा है कि अफ़ग़ानिस्तान में सत्ता में बदलाव चुनावों के ज़रिए ही होना चाहिए. उन्होंने अंतर्राष्ट्रीय समुदाय की देख-रेख में चुनाव कराए जाने की वक़ालत की है.

-Khidki Desk


ताजिकिस्तान की राजधानी दोशन्बे में अफ़ग़ानिस्तान में शांति की बहाली के लिए दो दर्जन से अधिक देशों के प्रतिनिधियों की एक अहम बैठक शुरू हो गई है. इन देशों में, भारत, पाकिस्तान, ईरान और तुर्की भी शामिल हैं.


इस बैठक के दौरान अपने भाषण में अफ़ग़ान राष्ट्रपति अशरफ़ ग़नी ने कहा है कि अफ़ग़ानिस्तान में सत्ता में बदलाव चुनावों के ज़रिए ही होना चाहिए. उन्होंने अंतर्राष्ट्रीय समुदाय की देख-रेख में चुनाव कराए जाने की वक़ालत की है.


इससे पहले, अफ़ग़ानिस्तान से अमेरिकी सेनाओं की वापसी का मुद्दा बीते दिनों अंतर्राष्ट्रीय राजनीति में गर्माया रहा है.

पूर्व राष्ट्रपति ट्रम्प के प्रशासन और तालिबान के बीच हुए समझौते के मुताबिक़ अमेरिकी सेनाओं की 1 मई तक अफ़ग़ानिस्तान से वापसी तय है लेकिन तय समय सीमा तक यह वापसी संभव हो पाएगी इस पर मौजूदा राष्ट्रपति जो बाइडेन के प्रशासन ने शंका ज़ाहिर की है.


इस पर तालिबान ने कड़ा ऐतराज़ जताते हुए कहा था कि अगर 1 मई तक अमेरिकी सेनाएं अफ़ग़ानिस्तान से वापस नहीं लौटती तो तालिबान उन पर हमले शुरू कर देगा.