• Mohit Pathak

मोरेटोरियम : क्या आपकी EMI माफ़ हो गयी?

अब मोरेटोरियम की अवधि को 31 मई से बढ़ा कर 31 अगस्त कर दिया गया है.
मोरेटोरियम के लिए बैंक बाध्य नहीं हैं.
अनपेड EMI पर व्याज लगता रहेगा.

मोरेटोरियम का मतलब क्या है? क्या आपकी EMI माफ़ हो गयी?


नहीं, मोरेटोरियम के हिंदी में बहुत सारे अर्थ होते हैं जैसे स्थगन, पाबन्दी, रोक. रिज़र्व बैंक ने मोरेटोरियम को 3 माह के लिए और बढ़ा दिया है. अब मोरेटोरियम की अवधि को 31 मई से बढ़ा कर 31 अगस्त कर दिया गया है. तो इस मोरेटोरियम का क्या अर्थ है? क्या ऋण वसूली पर रोक लग गयी है? या आपकी EMI माफ़ कर दी गयी है या EMI वसूली को 31 अगस्त तक टाल दिया गया है.

रिज़र्व बैंक के ने वर्त्तमान स्तिथि को देखकर बैंको को EMI को कुछ समय के लिए आगे बढ़ने की मतलब पोस्टपोन करने की अनुमति दे दी है. इसका मतलब आपकी EMI माफ़ नहीं हुई है.


क्या आपका बैंक अब आपसे EMI नहीं वसूल सकता?

ऐसा नहीं है. EMI ना वसूलने का विकल्प बैंको के पास है वे चाहें तो EMI वसूल सकते है यानि EMI को पोस्टपोन करने के लिए बैंक बाध्य नहीं हैं. परन्तु ज्यादातर बैंक EMI मोरेटोरियम का विकल्प ग्राहक को दे रहे हैं. जो ग्राहक इस विकल्प को स्वीकार कर रहे हैं उनकी EMI 31 अगस्त तक नहीं वसूली जायेगी.


क्या सरकार की तरफ से ऋण माफ़ी दे गयी है?

नहीं , मोरेटोरियम में आपकी EMI बस पोस्टपोन हो रही है माफ़ नहीं हो रही है. जो EMI अभी नहीं वसूली जायेगी वो आपके लोन की राशि में जोड़ दी जायेगी और बाद में वसूली जायेगी व्याज के साथ.

क्या मोरेटोरियम का विकल्प फायदेमंद है ?

इसका कोई सीधा जवाब नहीं है. जिन लोगो के पास पैसे के कमी है या जिन्हे लग रहा है की आने वाले समय में उन्हें पैसो की ज़रुरत पढ़ सकती है और नियमित आय का कोई श्रोत नहीं है वे लोग इसका लाभ उठा सकते हैं. जिन लोगो के व्यवसाय या नौकरी में किसी प्रकार का संकट नहीं है उन्हें इस विकल्प का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए और अपनी EMI नियमित तरीके से देते रहना चाहिये.


मोरेटोरियम के फायदे

  • वित्तीय आपातकाल में पैसे की कमी नहीं होगी।

  • नौकरी या आय की कमी का प्रभाव काम पढ़ेगा

  • क्रेडिट स्कोर खराब नहीं होगा।

  • पीनल व्याज नहीं लगेगा


मोरेटोरियम के नुक्सान

  • अनपेड EMI पर व्याज लगता रहेगा

  • लोन की अवधि बढ़ सकती है

  • EMI की अमाउंट बढ़ सकती है

Subscribe to Our Newsletter

  • White Facebook Icon

©