नावल्नी को जेल से ले जाया गया कहीं और

हालांकि नावल्नी के वक़ीलों तक को यह नहीं बताया गया है कि नावल्नी किस पीनल कॉलोनी में ले जाए गए हैं.

बीते कुछ हफ़्तों से कोल्चुगिनो जेल में क्वारंटीन किए गए रूसी राष्ट्रपति व्लादिमिर पुतिन के कड़े आलोचक अलक्ज़ेई नावल्नी को अब किसी अज्ञात पीनल कॉलोनी में ले आया गया है.


टास न्यूज़ एजेंसी की ओर से जारी की गई एक ख़बर में कहा गया है कि अब नावल्नी अगले ढाई साल की सज़ा यहीं काटेंगे. हालांकि नावल्नी के वक़ीलों तक को यह नहीं बताया गया है कि नावल्नी किस पीनल कॉलोनी में ले जाए गए हैं.

Federal Penitentiary Service की एक प्रवक्ता ने कहा है कि निजी जानकारियों को सुरक्षित रखने के क़ानूनों के चलते इस जानकारी को सार्वजनिक नहीं किया जा सकता कि नावल्नी कहां हैं. इधर नावल्नी के समर्थकों ने इस घटनाक्रम के ख़िलाफ़ ट्विटर पर #WhereisNavalny हैशटैग चलाया हुआ है.


नावल्नी को पैरोल के उल्लंघन के एक मामले में जेल की सज़ा सुनाई गई है जिसके बारे में नावल्नी के समर्थकों और पश्चिमी देशों का मानना है कि यह राजनीतिक वजहों से किया गया है.



पिछले साल एक यात्रा के दौरान नावल्नी के तबियत बेहद ख़राब हो गई थी और वे कोमा में चले गए थे. बाद में उन्हें इलाज के लिए जर्मनी ले जाया गया था जहां डॉक्टरों ने दावा किया था कि उन्हें नर्व एजेंट देकर मारने की कोशिश की गई थी. लेकिन रूस सरकार का कहना था कि उनके डॉक्टरों को परीक्षण के दौरान ऐसा कोई नर्व ऐजेंट नहीं मिला था.


SUPPORT US TO MAKE PRO-PEOPLE MEDIA WITH PEOPLE FUNDING.

Subscribe to Our Newsletter

© Sabhaar Media Foundation

  • White Facebook Icon

Nainital, India