उत्तर कोरिया से संपर्क की अमेरिकी कोशिशें नाक़ाम

उत्तर कोरिया के परमाणु कार्यक्रम को लेकर अमेरिका और उत्तर कोरिया के बीच लंबे समय से तनातनी बरक़रार है.

- Khidki Desk

इधर अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन के प्रशासन की ओर से कहा गया है कि वह अमेरिका में हुए सत्ता परिवर्तन के बाद बीती फ़रवरी से उत्तरी कोरिया की सरकार से संपर्क करने की कोशिशें कर रहा है लेकिन उत्तर कोरिया की ओर से अब तक कोई जवाब नहीं आया है.


एक वरिष्ठ अमेरिकी अधिकारी ने न्यूज़ ऐजेंसी रॉयटर्स को बताया है कि उत्तर कोरिया के साथ तनाव को कम करने के कूटनीतिक प्रयासों के सिलसिले में कई तरह से बात करने की कोशिश की है लेकिन वे क़ामयाब नहीं हुए हैं.


उत्तर कोरिया के परमाणु कार्यक्रम को लेकर अमेरिका और उत्तर कोरिया के बीच लंबे समय से तनातनी बरक़रार है. अमेरिका और पश्चिमी देश उत्तर कोरिया पर उसके परमाणु कार्यक्रम को निरस्त करने का दबाव बनाते आए हैं लेकिन उत्तर कोरिया क़ाफ़ी तल्ख़ अंदाज़ में पश्चि​मी ताक़तों के ख़िलाफ़ बयान देता आया है.


बाइडेन से पहले पूर्व राष्ट्रपति ट्रम्प के दौर में अमेरिकी सरकार और उत्तर कोरिया के नेता किम जॉंग उन के बीच हुई तीन बैठकें किसी निष्कर्ष तक नहीं पहुंची थीं.


अमेरिका और पश्चिमी देशों की ओर से सबसे अहम मांग रही है कि ​उत्तर कोरिया अपने परमाणु कार्यक्रम को बंद करे और बनाए गए परमाणु हथियारों को छोड़ दे. लेकिन उत्तर कोरिया इससे साफ़ तौर पर ​इनक़ार करता आया है.