North Korea ने किया Ballistic Missile का परीक्षण

South Korea के ज्वाइंट चीफ़ ऑफ़ स्टाफ़ ने कहा कि उत्तर कोरिया के पूर्वी तट पर सुबह क़रीब सात बजकर छह मिनट और सात बजकर 25 मिनट पर मिसाइलें दागी गईं.

- Khidki Desk

उत्तर कोरिया ने अमेरिका में राष्ट्रपति जो बाइडन के पदभार संभालने के बाद बृहस्पतिवार को पहली बार बैलिस्टिक मिसाइलों का परीक्षण किया.


उत्तर कोरिया के इस कदम को अमेरिका के साथ कूटनीति में आए गतिरोध के बीच जो बाइडन प्रशासन पर दबाव बनाने और अपनी सैन्य क्षमताओं को बढ़ाने के लिए फिर से परीक्षण शुरू करने के संकेत के रूप में देखा जा सकता है.


अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन ने इसे ख़ास तवज्ज़ो न देते हुए कहा कि इसमें कुछ भी नया नहीं है.


जापान के प्रधानमंत्री योशिहिदे सुगा ने कहा कि यह परीक्षण जापान के साथ ही की शांति और सुरक्षा के लिए खतरा है.


टोकियो उत्तर कोरिया की गतिविधियों पर अमेरिका और दक्षिण कोरिया के साथ करीबी समन्वय बनाए रखेगा.


दक्षिण कोरिया के ज्वाइंट चीफ़ ऑफ़ स्टाफ़ ने कहा कि उत्तर कोरिया के पूर्वी तट पर सुबह क़रीब सात बजकर छह मिनट और सात बजकर 25 मिनट पर मिसाइलें दागी गईं.


मिसाइलों ने समुद्र में गिरने से पहले 450 किलोमीटर की दूरी तय की.

अमेरिका हिंद-प्रशांत कमान के प्रवक्ता कैप्टन माइक काफ्का ने कहा कि अमेरिकी सेना को मिसाइलों के बारे में जानकारी है और वह सहयोगियों के साथ करीबी परामर्श करते हुए स्थिति पर नजर रख रही है.


यह गतिविधि दिखाती है कि उत्तर कोरिया के अवैध हथियार कार्यक्रम से उसके पड़ोसियों और अंतरराष्ट्रीय समुदाय को कितना खतरा है.


मिसाइलें ऐसे समय दागी गई हैं जब एक दिन पहले अमेरिका और दक्षिण कोरिया के अधिकारियों ने कहा था कि उत्तर कोरिया ने इस सप्ताहांत कम दूरी की मिसाइलों का परीक्षण किया है जिनको क्रूज मिसाइलें माना जा रहा है.