पाकिस्तानी पायलटों के फ़ेक लाइसेंस

जांच में पता चला है कि देश के कुल 860 पायलटों में से 260 के पास फ़ेक लाइसेंस है या फिर उन्होंने धोख़ेबाज़ी से परीक्षा पास की है.

- Khidki Desk

पाकिस्तान इंटरनेश्नल एयरलाइंस ने 150 पायलटों को यह दावा करते हुए उड़ान भरने से रोक दिया है कि उनके लाइसैंस वैध नहीं है.


पाकिस्तान के उड्यन मंत्री ग़ुलाम सरवर ख़ान ने बुधवार को संसद में बताया कि बड़ी संख्या में कमिर्सियल फ्लाइट्स के पाइलटों के पास या तो फ़र्जी लाइसेंस हैं या फिर उन्होंने धोखेबाज़ी से परीक्षाएं पास की हैं.


पिछले दिनों कराची में हुए एक विमान हादसे की शुरूआती रिपोर्टों के मुताबिक़ यह हादसा पायलट और ट्रैफ़िक कंट्रोल की ओर से हुई ग़लती का नतीज़ा था.


ख़ान बुधवार को इस हादसे की शुरूआती रिपोर्ट को साझा कर रहे थे. लेकिन उन्होंने एक विस्तृत सरकारी जांच की रिपोर्ट के निष्कर्षों को ​भी साझा किया जो कि 2018 के एक विमान हादसे के बाद से जारी थी.


2018 के हादसे की जांच में पता चला है ​कि उसके पायलट के लाइसेंस में जो टैस्ट की डेट लिखी गई थी वह एक सार्वजनिक अवकाश का दिन था जिस दिन किसी भी किस्म की परीक्षा कराना संभव नहीं था.


ख़ान ने बताया है कि इस जांच में पता चला है कि देश के कुल 860 पायलटों में से 260 के पास फ़ेक लाइसेंस है या फिर उन्होंने धोख़ेबाज़ी से परीक्षा पास की है.

Subscribe to Our Newsletter

  • White Facebook Icon

©