top of page

नैनीताल से सूर्यग्रहण की तस्वीरें

उत्तराखंड के नैनीताल से संदीप कुमार द्वारा ली गई सूर्यग्रहण की कुछ तस्वीरें .

-khidki desk




सूर्यग्रहण केवल अमावस्या यानी कि न्यू मून डे पर ही दिखाई देता है. इस दौरान चंद्रमा, सूर्य एवं पृथ्वी के बीच से गुजरता है, तो पृथ्वी के जिस हिस्से पर चंद्रमा की छाया पड़ती है वहां से देखने पर सूर्य का कुछ हिस्सा चंद्रमा से ढका दिखाई देता है.



राजस्थान के सूरतगढ़ और अनूपगढ़, हरियाणा के सिरसा, रतिया और कुरुक्षेत्र, उत्तराखंड के देहरादून, चंबा, चमोली, अल्मोड़ा और जोशीमठ जैसी जगहों से सूर्यग्रहण देखा गया .


सूर्यग्रहण केवल अमावस्या यानी कि न्यू मून डे पर ही दिखाई देता है इस दौरान चंद्रमा, सूर्य एवं पृथ्वी के बीच से गुजरता है, तो पृथ्वी के जिस हिस्से में चंद्रमा की छाया पड़ती है वहां से देखने पर सूर्य का कुछ हिस्सा चंद्रमा से ढका दिखाई देता है.


इस छल्लेदार सूर्य ग्रहण को देखने का खगोल शास्त्री लम्बे बतज़ार कर रहे है, यह घटना वैज्ञानिकों के लिये एक महत्वपूर्ण अवसर होता है जिससे कि वो खगोलविज्ञान के नये पहलुओं का अध्ययन कर पाते हैं. पूर्ण सूर्य ग्रहण के दौरान सूर्य का फोटोस्फीयर चंद्रमा द्वारा ढक जाने के कारण सूर्य की सबसे बाहरी परत, जिसको कोरोना कहते हैं प्रकाशित दिखती है. कोरोना में होने वाली विभिन्न परिघटनाओं के अध्ययन के लिए सूर्य ग्रहण वैज्ञानिक दृष्टी से एक महत्वपूर्ण अवसर है. सामान्य दिनों में सूर्य की अत्यधिक चमक के कारण कोरोना नहीं दिखाई देता.


bottom of page