'क्वाड' की पहली वर्चुअल बैठक

Quad देशों के समूह की इस वर्चुअल समिट में अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन, भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, ऑस्ट्रेलिया के प्रधानमंत्री स्कॉट मौरिसन और जापानी प्रधानमंत्री योशिहिडे सुगा शामिल हुए.

- Khdiki Desk



Quad देशों के समूह की पहली वर्चअल समिट में अमेरिका, भारत, जापान और आॅस्ट्रेलिया के नेताओ ने हिंद-प्रशांत क्षेत्र में चीन के बढ़ते प्रभाव को रोकने, Covid-19 और पर्यावरण से जुड़ी चुनौतियों पर मिल कर काम करने का फ़ैसला लिया है.


अंतर्राष्ट्रीय राजनीति में एक महत्वपूर्ण संगठन के तौर पर उभर रहे क्वाड देशों के इस समूह की इस वर्चुअल समिट में अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन, भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, ऑस्ट्रेलिया के प्रधानमंत्री स्कॉट मौरिसन और जापानी प्रधानमंत्री योशिहिडे सुगा शामिल हुए.


अमेरिकी National Security Advisor, Jake Sullivan जेक सुलिवैन ने इस मीटिंग के बाद व्हाइट हाउस में दिए अपने बयान में कहा, ''बावजूद इसके कि हम एक कठिन दौर में हैं, इस मीटिंग के बाद भविष्य को लेकर आशा का संचार हुआ है.''

हालांकि सुलिवैन ने कहा है कि मीटिंग में सभी देशों ने साफ़ तौर पर दर्शाया है कि चीन को लेकर उन्हें कोई भ्रम नहीं है, लेकिन यह मीटिंग बुनियादी तौर पर चीन को लेकर नहीं थी. इस मीटिंग का अधिकतर ध्यान मौजूदा वैश्विक संकट पर था जिसमें क्लाइमेट चेंज और Covid-19 की चुनौतियां शामिल हैं.


इधर भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस समिट के दौरान अपने वक्तव्य में कहा है कि क्वाड समूह के सभी देश लोकतांत्रिक मूल्यों के कारण एक दूसरे से जुड़े हुए हैं. मोदी ने कहा है कि क्वाड के सभी देश एक आज़ाद, खुले हुए और समावेशी हिंद-प्रशांत क्षेत्र के लिए प्रतिबद्ध हैं.