'मोनालिसा' वापस लौटी काम पर

Updated: Mar 4

4 महीने लंबे लॉकडाउन के दौरान 'मोनालिसा' का घर माना जाने वाला हमेशा चहल पहल भरा लूव्र म्यूज़ियम ख़ामोश पड़ा रहा. अब उसे पर्यटकों के लिए खोल दिया गया है.

- Khidki Desk


मशहूर पेंटिग 'मोनालिसा' वापस अपने काम पर लौट गई है. 4 महीने लंबे लॉकडाउन के दौरान 'मोनालिसा' का घर माना जाने वाला हमेशा चहल पहल भरा लूव्र म्यूज़ियम ख़ामोश पड़ा रहा. अब उसे पर्यटकों के लिए खोल दिया गया है. हालांकि पर्यटकों अब भी बेहद कम तादात में आ रहे हैं.


फ्रांस के पेरिस शहर में मौजूद लूव्र म्यूज़ियम का सबसे बड़ा आकर्षण 'मोनालिसा' है. दुनिया भर से करोड़ों लोग जब पेरिस घूमने आते हैं तो उनके यात्रा कार्यक्रम में लूव्र म्यूज़ियम ज़रूर शामिल होता है और उसकी वजह है यूरोपीय रेनेसां के दौर में महान चित्रकार लिओनार्दो दा विंची की बनाई दुनिया का सबसे मशहूर आॅयल पोट्रेट.. 'मोना लिसा'.


हालांकि 45 हज़ार वर्ग मीटर क्षेत्र में फ़ैले इस विशाल म्यूज़ियम लूव्र में दुनिया भर की 30 हज़ार से ​ज़्यादा महत्वपूर्ण और नायाब कलाकृतियां हैं लेकिन इस विशाल म्यूजियम को दुनिया भर में मोना लिसा के घर के तौर पर ही जाना जाता है.


म्यूज़ियम के डायरेक्टर जीन—लुक मार्टिनेज़ कहते हैं, ''ये हम सभी टीम्स के लिए एक बेहद भावनात्मक क्षण है जिन्होंने इस रिओपनिंग की तैयारियां की हैं. हमने यह उम्मीद की थी कि रिओपनिंग के पहले दिन महज़ 7 हज़ार के आस पास विज़िटर्स म्यूज़ियम में आ पाएंगे.''


गर्मियों के आम दिनों में लूव्र म्यूज़ियम को हर रोज़ 50 हज़ार से ज़्यादा लोग देखने पहुंचते हैं.