संकटग्रस्त सीरिया को मिलेगी 7.7 अरब डॉलर्स की मदद

इस रक़म का इस्तेमाल सीरिया में विस्थापन और निष्कासन झेल रहे लोगों के लिए खाना, स्वास्थ्य सुविधाओं और बच्चों की शिक्षा के संसाधन जुटाने में किया जाएगा.

- Khidki Desk


अंतरराष्ट्रीय समुदाय के दानदाताओं ने युद्ध से तबाह हुए सीरिया के लिए मानवीय सहायता के रूप में 7.7 अरब डॉलर दान देने का संकल्प जताया है. संयुक्त राष्ट्र और युरोपीय यूनियन के बीच हुई एक वर्चुअल कॉन्फ्रेंस में यह निर्णय लिया गया.


इस कॉन्फ्रेंस में तकरीबन 60 देशों के प्रतिनिधि और अन्य अनाधिकारिक पक्षों ने हिस्सा लिया. संयुक्त राष्ट्र की एजेंसियों को राहत कार्यों के लिए 10 बिलियन डॉलर की जरूरत है और यह रकम उस हिसाब से कम है. फिर भी दुनियाभर में कोरोना वायरस से जिस तरह आर्थिक नुकसान हुआ है, उसको देखते हुए यह उम्मीद से ज्यादा है.


इस रकम का इस्तेमाल सीरिया में विस्थापन और निष्कासन झेल रहे लोगों के लिए खाना, स्वास्थ्य सुविधाओं और बच्चों की शिक्षा के संसाधन जुटाने में किया जाएगा.


कॉन्फ्रेंस के बाद यूएन एड के प्रमुख मार्क लोकॉक ने कहा,


‘हम जानते हैं कि अभी के हालात काफी ख़राब हैं। हर देश सीरिया में राहत कार्यों के लिए संसाधन जुटाने की हालत में नहीं है.’

सीरिया के लिए आर्थिक मदद देने वालों में जर्मनी और क़तर सबसे आगे होंगे. जर्मनी ने 1.7 अरब डॉलर्स और क़तर 10 करोड़ डॉलर देने का वादा किया है। युरोपीय यूनियन के क्राइसिस मैनेजमेंट कमिश्नर जानेज लेनारसिक ने कहा कि आज हमने सीरिया के लोगों के लिए ना केवल शब्दों के जरिए एकजुटता दिखाई है, बल्कि एक ठोस संकल्प भी लिया है, जो वहां के लाखों लोगों की जिंदगी बदल देगा.


बता दें कि दस साल से जारी युद्ध ने सीरिया में भीषण मानवीय संकट खड़ा कर दिया है, जिसमें हज़ारों लोगों को जान गवांनी पड़ी है और लाखों बेघर हो गए हैं.

Subscribe to Our Newsletter

  • White Facebook Icon

©