75 % Covid Vaccine पर 10 देशों का क़ब्ज़ा

UN के महासचिव Antonio Guterres ने कहा है कि कोविड वैक्सीन के 75 फ़ीसद हिस्से में महज़ 10 देशों ने क़ब्ज़ा जमा लिया है जबकि 130 देश ऐसे हैं जिन्हें वैक्सीन की 1 डोज़ तक नहीं मिल पाई है.

- Khidki Desk


Covid-19 की वैक्सीन के बन जाने के बाद जहां एक ओर लोग राहत भरी सांस लेने लगे हैं वहीं संयुक्त राष्ट्र के महासचिव Antonio Guterres ने एक गंभीर चिंता की ओर इशारा किया है.


उन्होंने दुनिया भर में Covid-19 वैक्सीन के बटवारे को बेहद असमान और अनुचित बताते हुए आलोचना की है. बुधवार को हुई संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद की एक उच्च ​स्तरीय बैठक में गुटरेस ने इस पर गंभीर चिंता जताते हुए कहा है कि दुनिया भर के महज़ 10 देशों ने 75 प्रतिशत वैक्सीन्स पर क़ब्ज़ा कर लिया है जबकि 130 देश ऐसे हैं जिन्हें वैक्सीन की 1 डोज़ तक नहीं मिल पाई है.


गुटरेस ने कहा, ''इस बेहद नाज़ुक समय में, वैश्विक समुदाय के सामने वैक्सीन के समान वितरण की सबसे बड़ा नैतिक चुनौती है.''


उन्होंने तुरंत एक ग्लोबल वैक्सिनेशन प्लान बनाने का आह्वान किया है जिससे सभी को साथ लाकर समान तौर पर वैक्सीन्स का वितरण सुरक्षित किया जा सके. उन्होंने कहा कि वैज्ञानिकों, वैक्सीन बनाने वालों और ऐसे लोगों को साथ आना होगा जो कि इस मु​हीम के लिए प्रयास कर सकें ताकि जितनी जल्दी हो सके हर एक देश में हर एक व्यक्ति तक वैक्सीन पहुंचाई जा सके.


गुटरेस ने आर्थिक महाशक्तियों के समूह जी 20 देशों से भी अपील की है कि वह एक इमरजेंसी टास्क फ़ोर्स का गठन करें जो कि हर किसी तक वैक्सीन की पहुंच को सुनिश्चित करने के लिए फ़ारर्मास्युटिकल कंपनियों और महम्वपूर्ण इंडस्ट्री और लॉजिस्टिक एक्टर्स को साथ लेकर आ सकें.

गुटरेस ने इसे लेकर शुक्रवार को सर्वाधिक औद्योगीकृत जी 7 देशों एक मीटिंग भी बुलाई है जो कि ज़रूरी आर्थिक स्रोत ​जुटाने की दिशा में एक रफ़्तार पैदा कर सकते हैंं.