Floyd मामले में ट्रायल शुरू

अभियोजन पक्ष ने जूरी से डेरेक शॉविन को दोषी क़रार कर सज़ा देने की गुज़ारिश की. अभियोजन पक्ष ने कहा कि डेरेक नौ मिनट से अधिक देर तक जॉर्ज फ़्लॉयड की गर्दन पर घुटना रखे हुए थे और "यही उनकी मौत की बड़ी वजह थी".

- Khidki Desk

अमेरिका में काले व्यक्ति जॉर्ज फ़्लॉयड की मौत के मामले में अभियुक्त पूर्व पुलिसकर्मी डेरेक शॉविन के ख़िलाफ़ सोमवार को ट्रायल शुरू हुआ. अभियोजन पक्ष ने जॉर्ज फ़्लॉयड की मौत का पूरा वीडियो कोर्टरूम में जूरी के सामने चलाया जिसमें देखा गया कि पुलिसकर्मी डेरेक शॉविन फ्लॉयड पर झुके हुए हैं.


अभियोजन पक्ष ने जूरी से डेरेक शॉविन को दोषी क़रार कर सज़ा देने की गुज़ारिश की. अभियोजन पक्ष ने कहा कि डेरेक नौ मिनट से अधिक देर तक जॉर्ज फ़्लॉयड की गर्दन पर घुटना रखे हुए थे और "यही उनकी मौत की बड़ी वजह थी".


वहीं बचाव पक्ष के वकील एरिक नेलसन की पूरी कोशिश यह साबित करने की रही कि फ़्लॉयड की मौत की वजह कुछ और है. उन्होंने फ़्लॉयड के स्वास्थ्य का हवाला देते हुए कहा कि उन्होंने ड्रग्स का सेवन किया था जो उनकी मौत की एक बड़ी वजह बनी. जिस वक़्त फ़्लॉयड को गिरफ़्तार किया जा रहा था उनके पास ड्रग्स थी और "पुलिस से छिपाने के लिए उन्होंने वो ड्रग्स निगल लिए थे".

दूसरे दिन की सुनवाई मंगलवार को स्थानीय समयानुसार सुबह 9.30 बजे शुरू होगी. पूरी सुनवाई के क़रीब चार हफ़्तों में पूरा होने का अनुमान है.


पहले दिन की सुनवाई के दौरान तीन गवाहों को कोर्टरूम में बुलाया गया जिनसे अभियोजन पक्ष और बचाव पक्ष ने सवाल किए. ट्रायल शुरू होने के ठीक पहले फ़्लॅायड के परिजन और दोस्तों ने मिनीपोलिस शहर में एक जुलूस निकाला, शांतिसभा आयोजित की और उनके लिए न्याय की मांग की.


फ़्लॉयड के भाई टेरेन्स ने कहा, "हम लोग ईश्वर से डरने वाले लोग हैं. हमारी चर्च में आस्था है. इसलिए हम सिस्टम से माँग करते हैं कि उन्हें न्याय मिले."