'ट्रम्प दे रहे हैं भड़काऊ बयान'

वॉशिंग्टन गवर्नर जे इंसली ने ट्वीट करते हुए कहा कि ट्रम्प अपने इस बयान से कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण के बीच लाखों लोगों की जान को खतरे में डाल रहे हैं। उन्होंने कहा कि हम पहले भी देख चुके हैं कि इस तरह के बयानों से हिंसा भड़क जाती है।

- Khidki Desk

अमेरिका में वॉशिंग्टन गवर्नर जे इंसली ने अमेरिकी राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रम्प के इस बयान को भड़काऊ और हिंसक बताया है, जिसमें ट्रम्प ने अपने समर्थकों से डेमोक्रेटिक सरकारों वाले राज्यों को आज़ाद कराने करने की अपील की थी। इंसली ने बीते शुक्रवार ट्वीट करते हुए कहा कि ट्रम्प अपने इस बयान से कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण के बीच लाखों लोगों की जान को खतरे में डाल रहे हैं। उन्होंने कहा कि हम पहले भी देख चुके हैं कि इस तरह के बयानों से हिंसा भड़क जाती है। ट्रंप ने अपने सिलसिलेवार ट्वीट्स में अपनी पार्टी के समर्थकों से अपील की थी कि जिन राज्यों में डेमोक्रेटिक पार्टी की सरकार है उन्हें आज़ाद कराने की ज़रूरत है. इंसली ने ट्रंप के बयान पर आपत्ति जताई है और यह भी कहा है कि इससे लाखों लोंगो में COVID-19 के संक्रमण का खतरा बढ़ सकता है. गौरतलब है की रिपोर्ट लिखने तक अमेरिका में कोरोना वायरस से संक्रमित लोगों की संख्या 7,10,000 और मरने वालो की संख्या 37,000 के पार पहुँच चुकी है. जिसमे सबसे ज्यादा 23,951 संक्रमित लोग और 17,131 मौतें न्यूयोर्क में हुई है. अमेरिका में अभी तक देशव्यापी बंद नहीं किया गया है और लोकडाउन का पूरा ज़िम्मा राज्य सरकारों को दिया गया है. एक ट्वीट में उन्होंने ये भी कहा की अर्थव्यवस्था को कैसे फिर से शुरू करना है ये फैसला राज्य सरकारें अपने हिसाब से करें और केंद्र सरकार इसका समर्थन करेगी.

Subscribe to Our Newsletter

  • White Facebook Icon

©