यूरोपीय संघ की तुर्की को धमकी

तुर्की ने पूर्वी भूमध्य सागर के उन विवादित इलाकों में तेल और गैस की खोज़ के लिए अभियान चलाया हुआ है जिन पर ग्रीस अपना दावा करता है. ऐसे में दोनों देशों के बीच सैन्य संघर्ष के हालात पैदा हो गए हैं.

- Khidki Desk


पूर्वी भूमध्यसागर में तुर्की, ग्रीस और साइप्रस के बीच बढ़े तनाव के बीच यूरोपीय संघ ने तुर्की को नए प्रतिबंध लगाने की धमकी दी है. उसने कहा है कि अगर तुर्की भूमध्यसागर के विवादित क्षेत्र में दख़लंदाज़ी बंद नहीं करता तो कड़े आर्थिक प्रतिबंध भी लगाए जाएंगे.


यूरोपीय संघ के शीर्ष डिप्लोमैट जोसेप बोरैल ने शुक्रवार को कहा कि संघ एक बातचीत का एक मौका देना चाहता था लेकिन ​जिस तरह के हालात पैदा हुए हैं और उसके सदस्य देश ग्रीस और साइप्रस जिस तरह का सैन्य ख़तरा महसूस कर रहे हैं उसे उन्हें सहयोग करना होगा.


तुर्की ने पूर्वी भूमध्य सागर के उन विवादित इलाकों में तेल और गैस की खोज़ के लिए अभियान चलाया हुआ है जिन पर ग्रीस अपना दावा करता है. ऐसे में दोनों देशों के बीच सैन्य संघर्ष के हालात पैदा हो गए हैं.


इस विवाद पर बर्लिन में यूरोपीय संघ के विदेशमंत्रियों की एक बैठक हुई थी. इस बैठक के बाद बोरैल ने पत्रकारों से बात करते हुए तुर्की के लिए यह चेतावनी जारी की है.


बोरैल ने कहा है कि संघ की ओर से तुर्की पर लगाए गए नए प्रति​बंधों का मतलब होगा कि तुर्की विवादित जल क्षेत्र में प्राकृतिक गैस या तेल को नहीं खोज पाएगा और साथ ही तुर्की के जहाज़, या नागरिक यूरोपीय बंदरगाहों के इस्तेमाल नहीं कर पाएंगे.


बोरैल ने कहा, ''हम क्षेत्रीय गतिविधियों से जुड़े ऐसे प्रतिबंध भी लगा सकते हैं.. जहां तुर्की की आर्थिक गतिविधियां यूरोपीय आर्थिक गतिविधियों से किसी भी तरह जुड़ी हुई हैं..''

Subscribe to Our Newsletter

  • White Facebook Icon

©