म्यांमार में मानवाधिकारों का उठ रहा मुद्दा

संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद को लिखे एक पत्र में 500 सांसदों ने सुरक्षा बलों पर ओरोप लगाया है कि वे तख़्तापलट का विरोध कर रहे प्रदर्शनकारियों पर गोलियां बरसा रहे हैं.

- Khidki Desk

Representative image

म्यांमार में हुए सैन्य तख़्ता पलट के ख़िलाफ़ लगातार प्रदर्शन जारी हैं- इन हालात के बीच म्यांमार के तक़रीबन 500 सांसदों ने संयुक्त राष्ट्र (UNHRC) से अपील की है कि वह सेना की ओर से किए जा रहे मानवाधिकार उल्लंघनों की जांच करे.


संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद को लिखे एक पत्र में इन सांसदों ने सुरक्षा बलों पर ओरोप लगाया है कि वे तख़्तापलट का विरोध कर रहे प्रदर्शनकारियों पर गोलियां बरसा रहे हैं.


इससे पहले, म्यामार में संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार दूत ने भी कहा था कि ऐसे सबूत हैं जिनके मुताबिक़ सुरक्षा बलों ने प्रदर्शनकारियों पर गोलियां दाग़ी थीं.


इस बीच संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद ने म्यामार में आंग सान सू ची और ​दूसरे नेताओं की रिहाई की मांग की है और साथ ही तख़्तापलट का विरोध कर रहे प्रदर्शनकारियों पर हिंसा का इस्तेमाल ना करने की अपील की है.