रोहिंग्या शरणार्थियों के शिविर में कोरोना का पहला मामला

घनी आबादी वाले बांग्लादेश के एक रोहिंग्या शरणा​र्थी शिविर में कोरोना का पहला मामला मिलने से चिंता बढ़ गई है.

- Khidki Desk


बांग्लादेश के रोहिंग्या शरणार्थी शिविरों में, कोरोनावायरस का पहला मामला सामने आया है. बांग्लादेश के एक वरिष्ठ अधिकारी और संयुक्त राष्ट्र के एक प्रवक्ता ने इस बात की पुष्टि की है. उन्होंने बताया कि “एक रोहिंग्या शरणार्थी और एक स्थानीय व्यक्ति की COVID -19 की जांच पॉज़िटिव आई है.'' दक्षिणी बांग्लादेश के जिस इलाक़े में यह मामला दर्ज किया गया है, यहां भयानक गरीबी के ​बीच म्यांमार से भागकर प्रवास झेल रहे 10 लाख से ज्यादा रोहिंग्या लोगों की घनी आबादी है. इन प्रवासियों को बेहद संकुचित इलाक़े में बनाए गए शरणार्थी शिविरों में टिकाया गया है. ऐसे में कोरोनावायरस से एहतियात के लिए दैहिक दूरी को बनाए रखना चुनौतीपूर्ण है. रोहिंग्याओं में पहला कोरोना मामला सामने आने के बाद बांग्लादेश के अधिकारियों के सामने चुनौतियां बढ़ गई हैं. मानवाधिकार समूह अपील कर रहे हैं कि ऐसी ​व्य​वस्थाएं कराई जाएं जिससे ये शरणार्थी दैहिक दूरी के एहतियात का पालन कर सकें. बांग्लादेश में अब तक 18,863 संक्रमण दर्ज किए गए हैं और 283 लोगों की मौत हुई है. रोहिंग्याओं की घनी आबादी के बीच अगर संक्रमण के फ़ैला तो अनुमान लगाया जा रहा है कि यह भयानक तबाही ला सकता है.

Subscribe to Our Newsletter

  • White Facebook Icon

©