Tik-Tok पर विडियो शेयर करने पर महिलाओं जेल

हनीन होसाम, मोवदा अल-अदहम और तीन अन्य महिलाओं को टिक टॉक पर ऐसे विडियो शेयर करने के लिए यह सज़ा सुनाई गई है जो कि कथित तौर पर सामाजिक नैतिकता के ख़िलाफ़ हैं.

- Khidki Desk


मिस्र की एक अदालत ने सार्वजनिक नैतिकता यानी पब्लिक मॉरल्स के उल्लंघन के आरोप में पांच सोशल मीडिया मॉडल्स और इन्फ्लुएंसर्स महिलाओं को दो-दो साल जेल की सज़ा सुनाई है.


काहिरा विश्वविद्यालय की 20 वर्षीय छात्रा हानीन होसाम पर आरोप लगाया गया कि उन्होंने एक वीडियो ऐप के जरिए युवतियों को पुरुषों से मिलने और उनसे दोस्ती करने के साथ ही फ़ॉलोअर्स बढ़ाकर पैसा कमाने के लिए प्रोत्साहित किया.


वहीं टिकटोक और इंस्टाग्राम पर कम से कम दो मिलियन फ़ॉलोअर्स वाली इन्फ्लुएंसर मवादा-अल-अदहम पर सोशल मीडिया पर अश्लील तस्वीरें और वीडियो पोस्ट करने का आरोप लगाया गया है. बाकी जिन तीन महिलाओं सुनाई गयी है, वे होसाम और अल-अदहम के सोशल मीडिया एकाउंट्स को मैनेज करती थी.


इन गिरफ्तारियों के खिलाफ लोगों में गुस्सा है. सोशल मीडिया पर ACTIVISTS अपना अपना विरोध दर्ज करा रहे हैं. अरबी भाषा में एक हैशटैग With the permission of the Egyptian family भी ट्रेंड कर रहा है इसे सोशल मीडिया अभियान में व्यापक रूप से इस्तेमाल किया गया और महिला INFLUENCERS की रिहाई की मांग की गई.